लखनऊ| पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी सलमा अंसारी द्वारा अलीगढ़ में चलाए जा रहे मदरसे की पानी की टंकी में चूहा मारने की दवा मिलाने का मामला सामना आया है. इस मदरसे में करीब 4000 बच्चे पढ़ते हैं. अंग्रेजी अख़बार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार इस मदरसे को अल नूर चैरिटेबल सोसाइटी द्वारा चलाया जाता है जिसकी प्रमुख सलमा अंसारी हैं.Also Read - Hamid Ansari Controversial Statement: हामिद अंसारी बोले- कोरोना से पहले ही देश ‘धार्मिक कट्टरता’ और ‘आक्रामक राष्ट्रवाद’ की महामारी का शिकार हुआ है

बताया जा रहा है कि मदरसे की पानी की टंकी में दो व्यक्तियों द्वारा चूहा मारने की दवा मिलाई . पानी में ज़हर मिलाते हुए एक छात्र ने देख लिया था और इसकी सूचना वॉर्डन को दी. इस मामले में दो अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर ली गई है. पुलिस अब आगे की जांच में जुट गई है. Also Read - जब संसद खराब कानून बनाती है तो न्यायाधीश वह करते हैं जो सांसदों को करना चाहिए : हामिद अंसारी

घटना के बारे में सलमा अंसारी ने कहा कि वह इस बारे में जानकार चौक गई. सलमा ने यह भी कहा कि उन्होंने वॉर्डन से पुलिस में शिकायत दर्ज करने को कहा. उन्होंने एक अंग्रेजी अख़बार को यह भी बताया कि इस घटना के बाद उन्होंने मदरसे की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाने का फैसला किया है. Also Read - CSE को मिला इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार, exVP अंसारी ने सुनीता नारायणन को सौंपा

इस बीच घटना के बारे में जानकारी देते हुए मदरसे के वॉर्डन जुनैद सिद्दिकी ने बताया, ‘मुझे मोहम्मद अफजल नाम के छात्र ने इस घटना की जानकारी दी. बीते शुक्रवार की शाम जब अफजल पानी पीने गया तो उस दौरान उसने दो लोगों को पानी के टैंक में कुछ मिलाते हुए देखा. यह पूछने पर कि आप लोग यह क्या कर रहे हैं, मदरसे की चारदीवारी पर बैठे एक दूसरे व्यक्ति ने दुसरे से कुछ ना कहने को कहा.’ ऐसा भी बताया जा रहा है कि अफजल को उन लोगों ने गोली मरने की धमकी भी दी और वहां से भाग गए.