नई दिल्‍ली/ लखनऊ: नोएडा, मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ और मुज़फ्फरनगर में रात के कर्फ्यू का समय बढ़ाया गया है. कल गुरुवार से रात   8 बजे से सुबह 6 बजे का कर्फ्यू सुबह लगाया गया.पहले यह समय रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक था. उत्‍तर प्रदेश सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर उठाया है.Also Read - UP MLC Election 2022: यूपी में विधान परिषद की 36 सीटों के लिए दो चरणों में चुनाव का ऐलान

यह रात का कर्फ्यू सीएम योगी आदित्‍यनाथ की गुरुवार को एक बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए रात्रि कर्फ्यू बढ़ाने का निर्देश दिया गया था. ये निर्देश के आधार पर संक्रमण को रोकने के लिए गुरुवार से रात्रि कर्फ्यू का समय रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक कर दिया गया है. कर्फ्यू के दौरान आवश्यक सेवा तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति से जुड़े लोगों के आवागमन की अनुमति है. Also Read - UP में BJP अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने किया डोर-टू-डोर प्रचार, अखिलेश यादव पर आतंकियों के केस हटाने के आरोप लगाए

मेरठ मंडल आयुक्त ने कहा, नोएडा, मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ और मुज़फ्फरनगर में रात का कर्फ्यू रात 8 -6 बजे से लगाया जाएगा. सार्वजनिक स्थानों पर बिना नकाब या थूकने वालों को दंडित किया जागएगा. कंटेनमेंट जोन में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर आवाजाही पर प्रतिबंध है. Also Read - एयरपोर्ट अफसरों ने हेलीकॉप्‍टर की उड़ान में देरी की वजह बताई तो अखिलेश बोले- मुझे कैसे पता होगा कि क्या कारण था

गौतमबुद्ध नगर जिले में कर्फ्यू का समय रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक किया गया
उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से लॉकडाउन के दौरान कर्फ्यू का समय रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक कर दिया गया है. पहले यह समय रात 9बजे से सुबह 5 बजे तक था.

पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी पंकज कुमार सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि 17 जून को मेरठ मंडल में कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी.

बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए रात्रि कर्फ्यू बढ़ाने का निर्देश दिया गया था. उन्होंने बताया कि ये निर्देश के आधार पर संक्रमण को रोकने के लिए गुरुवार से रात्रि कर्फ्यू का समय रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि कर्फ्यू के दौरान आवश्यक सेवा तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति से जुड़े लोगों के आवागमन की अनुमति है.