नई दिल्ली: इस साल गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली उत्तर प्रदेश की झांकी ने सर्वश्रेष्ठ झांकी का पुरस्कार जीता है. केंद्रीय मंत्री किरण रिजीजू ने बृहस्पतिवार को उसे पुरस्कार दिया. रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इस साल की परेड में कुल 32 झांकियों ने हिस्सा लिया था जिनमें 17 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों की थी जबकि नौ केंद्रीय मंत्रालयों, विभागों और अर्द्धसैनिक बलों एवं छह रक्षा मंत्रालय की थीं.Also Read - Republic Day 2022: 10 प्वाइंट्स में समझें राजपथ की परेड में क्या कुछ था खास

उत्तर प्रदेश की झांकी का विषय ‘ अयोध्याः उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत’ पर थी. इसमें प्राचीन पवित्र नगर अयोध्या की सांस्कृतिक विरासत, राम मंदिर का प्रतिचित्र और रामायण की विभिन्न कहानियों का प्रदर्शन किया गया. Also Read - Happy Republic Day 2022 Wishes, Quotes, Whatsapp Messages, Status: अपने दोस्‍तों और प्रिय जनों को भेजें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं, बनाए दिन को और भी खास

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “त्रिपुरा की झांकी दूसरी सर्वश्रेष्ठ झांकी रही. इसने सामाजिक-आर्थिक मापदंडों में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए पर्यावरण अनुकूल परंपरा को बढ़ावा दिया गया है. ” बयान में बताया गया है कि उत्तराखंड की झांकी तीसरे स्थान पर रही. इसका विषय ‘देव भूमि–देवताओं की भूमि’ थी. Also Read - Republic Day Parade 2022: जानिए कहां और कैसे देखें गणतंत्र दिवस परेड की LIVE स्ट्रीमिंग

रक्षा मंत्रालय ने बताया कि केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) की झांकी को विशेष पुरस्कार दिया गया है. यह झांकी ‘अमर जवान’ की थीम पर थी और इसमें सशस्त्र बलों के शहीद नायकों को श्रद्धांजलि दी गई है. बयान में बताया गया है कि रिजीजू ने सर्वश्रेष्ठ सांस्कृतिक प्रस्तुति का पुरस्कार माउंट आबू पब्लिक स्कूल और दिल्ली के रोहिणी के विद्या भारती स्कूल को दिया है.