लखनऊ: बिहार के नेता प्रतिपक्ष लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव रविवार को लखनऊ पहुंचे. इस दौरान वह सपा मुखिया अखिलेश यादव और बसपा मुखिया मायावती से भेंट करने भी पहुंचे. इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि हम मायावती और अखिलेश यादव से एक शिष्टाचार मुलाकात करने आये हैं. सबसे छोटे हैं हम और सबका आशीर्वाद लेने आये हैं. उन्होंने कहा कि लालू जी ने यही कल्पना की थी कि उत्तर प्रदेश में भी महागठबंधन हो, मायावती और अखिलेश यादव मिलकर चुनाव लड़े.

गठबंधन पर सीएम योगी बोले- अच्छा हुआ सपा-बसपा एक हो गए, अब आएगा हराने में मजा

तेजस्वी ने कहा कि जिस तरह से देश मे अघोषित इमरजेंसी लगाई गई है, संविधान से छेड़छाड़ की जा रही है आरक्षण को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है. संवैधानिक संस्थाओं पर तानाशाही की जा रही है, जो काम मोहन भागवत ने कहा था वही मोदी जी कर रहे हैं.

राबड़ी को अंगूठाछाप बताने पर रामविलास पासवान के खिलाफ धरने पर बैठीं उनकी ही बेटी, माफी की मांग

यादव ने कहा कि हमारी मोदी जी से कोई लड़ाई नहीं है बस विचारों और सिद्धांतों की लड़ाई है जिसको हैं सभी साथ मिलकर लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि लालू जी आज इसलिए जेल में हैं, क्योंकि उन्होंने मोदी जी के आगे घुटने नही टेके. हमारी जब मूछ भी नहीं आई थी तब हम पर केस करा दिया गया था. तेजस्वी ने कहा, “14-15 साल की उम्र में हम पर केस कर दिया गया था जिसमें हमारे चाचा नीतीश का भी हाथ था. मोदी राज में अर्थव्यवस्था चौपट है. देश में इतिहास में पहली बार आरबीआई के गवर्नर ने इस्तीफा दिया है.’