लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में आंदोलनरत किसानों (Kisan Andolan) की समस्याओं से जुड़े मुद्दे को अध्यक्ष द्वारा उठाने की अनुमति नहीं दिए जाने पर कांग्रेस (Congress) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सदस्यों से सदन से वाकआउट किया और भाजपा नेताओं पर बड़े कोरपोरेट घरानों के लिए दलाली करने का आरोप लगाया.वहीं दूसरी ओर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि घोषित दलाली का जरिया समाप्‍त होने से विपक्षी नेता आक्रोशित हैं .नेता सदन (मुख्‍यमंत्री) योगी आदित्‍यनाथ द्वारा किसानों की आड़ में दलाली; का आरोप लगाने पर नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने नाराज़गी जताते हुए भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को अडानी और अंबानी का दलाल करार दिया. Also Read - Bharat Bandh Today News Updates: किसान यूनियनों, Traders का GST, Fuel Price Hike, E-Way Bill के विरोध में आज बंद

शुक्रवार को सदन की कार्यवाही शुरू होने पर नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी, सपा सदस्‍य शैलेंद्र यादव ललई, नरेंद्र वर्मा और वीरेंद्र यादव ने विधानसभा अध्‍यक्ष को नोटिस देकर सदन की कार्यवाही स्‍थगित कर केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन क‍ृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे आंदोलनरत किसानों के उत्‍पीड़न पर चर्चा कराने की मांग की थी.चौधरी ने सदन में कई बार इस पर चर्चा कराने की मांग रखी लेकिन मांग स्‍वीकृत न होने पर नारे लगाते हुए सपा के सदस्‍य वाकआउट कर गए. इस दौरान कांग्रेस के सदस्‍य भी किसानों के मसले पर ही सदन से बाहर चले गये. Also Read - Video: Congress Leader Rahul Gandhi ने समुद्र में लगाई डुबकी, तैरते हुए भी आए नजर

इसी बीच मुख्‍यमंत्री ने सदन से बहिर्गमन कर रहे सदस्‍यों की ओर इशारा करते हुए कहा- ये है वास्‍तविकता, ये है सच्‍चाई, ये सच्‍चाई इस बात को बताती है कि प्रतिपक्ष का हमारे अन्‍नदाता किसानों से कोई लेना-देना नहीं है. विपक्षी सदस्‍यों द्वारा गन्‍ना मूल्‍य में चार वर्ष में एक रुपये की भी वृद्धि न होने के आरोप पर मुख्‍यमंत्री ने कहा अगर 2004 से लेकर 2017 के बीच में गन्‍ना मूल्‍य के पूरे भुगतान को जोड़ लिया जाय तो इन वर्षों में जितना भुगतान नहीं हुआ, उतना पिछले साढ़े तीन वर्षों में हुआ है. हमारी सरकारी ने गन्‍ना किसानों के खाते में सीधे पैसा भेजा है. योगी ने कहा अन्‍नदाता किसान को धोखा देकर दलाली करने वाले लोग आज जरूर इस बात को लेकर चिंतित हैं कि पैसा सीधे उनके (किसानों) खातों में क्‍यों जा रहा है. आज तो पर्ची भी किसानों के स्‍मार्ट फोन पर प्राप्‍त हो रही है. Also Read - राहुल गांधी सुबह साढ़े 4 बजे मछली पकड़ने समुद्र में गए, कहा- मछुआरों के काम का करते हैं सम्मान, इनके लिए...

राम गोविंद चौधरी ने बाद में विधान सभा के तिलक हाल में पत्रकारों से शब्‍द पर नाराजगी जताते हुए कहा‘‘ भाजपा के नेता संसदीय मर्यादा भूल गये हैं, ये घमंड में हैं और दलाल ये खुद हैं, ये अडानी और अंबानी के दलाल हैं. प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री, अडानी और अंबानी के दलाल हैं. विपक्ष तो किसानों के समर्थन में है. उन्होंने कहा कि तीन माह हो गये और दौ सौ से अधिक किसान कड़ाके की ठंड में शहीद हो गये जिनमें दो किसान उत्‍तर प्रदेश के भी हैं. केंद्र सरकार का कोई मंत्री, राज्‍य का मुख्‍यमंत्री मंत्री या भाजपा का कोई बड़ा या छोटा नेता श्रद्धांजलि अर्पित करने भी नहीं गया.उन्‍होंने कहा कि यह देश का सबसे अहम मुद़्दा है लेकिन सरकार इसकी अनदेखी कर रही है.

कांग्रेस के अख्‍तर मसूद और नरेश सैनी ने तिलक हाल में पत्रकारों से कहा कि जो सरकार किसानों की आय दोगुना करने का दम भरती है उसने गन्‍ना किसानों का एक रुपया भी नहीं बढ़ाया है. सदस्‍यों ने कहा कि हमारी मांग सदन की कार्यवाही रोकर चर्चा कराने की थी लेकिन यह सरकार असंवेदनशील है, इसलिए कांग्रेस ने सदन से वाकआउट किया.