लखनऊ. समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ने का आरोप लगाते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है. एसपी ने कहा कि यूपी की लगातार बिगड़ती कानून व्यवस्था विशेषकर उन्नाव रेप मामले के मद्देनजर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए.एसपी उपाध्यक्ष किरनमय नंदा ने शुक्रवार को कहा, ”यह सरकार एक दिन भी नहीं रहनी चाहिए. अनुच्छेद 356 लागू होना चाहिए और प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए.” वहीं, मुलायम की छोटी बहूू अपर्णा यादव ने कहा कि यूपी ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ का नारा अर्थहीन हो गया है.Also Read - संजय राउत की चेतावनी- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की न सोचें, वरना खुद जल जाओगे

एसपी उपाध्यक्ष  नंदा ने  कहा कि पूरे देश ने देखा कि पीड़िता के पिता को बर्बरता से पीटा गया. पुलिस कैसे कह रही है कि कोई सबूत नहीं है. ऐसे पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए. नंदा ने दावा किया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ गई है. महिलाओं के खिलाफ अपराध बढे हैं और शासन प्रशासन इसे रोकने में नाकाम रहा है. Also Read - क्या पश्चिम बंगाल में लागू होगा राष्ट्रपति शासन?, कैलाश विजयवर्गीय बोले- निष्पक्ष चुनाव के लिए यह जरूरी

वहीं, एसपी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ का नारा अर्थहीन हो गया है. उन्होंने कहा कि अगर किसी विधायक, सांसद या सरकारी अधिकारी के खिलाफ किसी पीडित महिला ने संगीन आरोप लगाया है तो उसके खिलाफ कार्रवाई ठीक उसी तरह होनी चाहिए, जैसे आम आदमी के मामले में होती है. (इनपुट- एजेंसी ) Also Read - बीजेपी की मांग: निष्पक्ष चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू हो, वरना टीएमसी...