आजमगढ़ (उप्र): मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए आरोपियों की तस्वीरें चौक-चौराहों पर सार्वजनिक करने के निर्देश के बाद समाजवादी युवजन सभा ने आजमगढ़ शहर के प्रमुख मार्गों और चौराहो पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)के नेताओं के पोस्टर लगा दिये. इन पोस्टरों में भाजपा के उन नेताओं की तस्वीर है जो कथित तौर पर यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे रहे हैं. फिलहाल इस मामले में पुलिस ने सभी पोस्टरों को हटा दिया हैं और मामले में प्राथमिकी दर्ज कर जांच में जुटी है.Also Read - Maharashtra Local Polls Result: महाराष्ट्र नगर पंचायत चुनाव के नतीजे में BJP सबसे बड़ी पार्टी, जानें किसे मिली कितनी सीटें

आजमगढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव का संसदीय क्षेत्र है. पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए आरोपियों की तस्वीरें चौक-चौराहों पर सार्वजनिक करने के निर्देश दिये थे. सोमवार को शहर के कलेक्ट्रेट चौराहे के आस-पास यौन उत्पीड़न के आरोपी नेताओं के पोस्टर चिपके दिखे. पोस्टर समाजवादी युवजन सभा के लालजीत यादव क्रांतिकारी की तरफ से लगाये गये थे. Also Read - Uttarakhand चुनाव से पहले BJP में शामिल हुए पूर्व CDS दिवंगत जनरल विपिन रावत के भाई विजय रावत

पोस्टर में यौन उत्पीड़न के आरोपी भाजपा नेताओं के साथ ही बाबा राम रहीम की फोटो लगी थी. यह पोस्टर शहर के कई स्थानों पर लगाये गये थे. आनन- फानन में पुलिस पूरे जिले में लगे पोस्टरों को हटाने में जुटी और कई स्थानों पर लगे पोस्टर को पुलिस ने हटाकर अपने कब्जे में ले लिया. Also Read - जेपी नड्डा ने कहा- यूपी में अपना दल (एस) और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी भाजपा

वहीं, समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य लालजीत यादव क्रांतिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था अब बलात्कारियों के फोटो हर चौक चाराहों पर लगाये जायेगें. इसी के तहत समाजवादी पार्टी के युवजन सभा के लोगों ने भाजपा के कथित तौर पर यौन उत्पीड़न के आरोपी नेताओं के पोस्टर लगाये गये हैं. पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि समाजवादी युवजन सभा के द्वारा कुछ आपत्ति जनक पोस्टर लगाये गये थे,जिन्हे हटा दिया गया है इस मामले में सम्बन्धित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

(इनपुट भाषा)