उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) का कहना है कि किसानों का भला केवल किसान पुत्र मुलायम सिंह यादव की नीतियों से ही संभव है। सपा प्रमुख ने हल चलाया है, खेतों में कृषि कार्य किया है। यही कारण है कि वह किसानों की समस्याओं के हर पहलू से वाकिफ हैं। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता दीपक मिश्र ने बातचीत में कहा कि सपा ने हमेशा किसानों के सर्वतोन्मुखी हितों की लड़ाई लड़ी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की किसानों के प्रति प्रतिबद्धता व सेवाभाव को देखते हुए ही भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व महान किसान नेता चौधरी चरण सिंह ने मुलायम सिंह यादव को अपना राजनैतिक व वैचारिक वारिस घोषित किया था। Also Read - बुंदेलखंड के बांदा में कर्ज के चलते की किसान ने सुसाइड, पत्‍नी ने कहा- बैंक लोन की वसूली का था दबाव

उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह की परंपरा को सपा पूर्ण मनोयोग से बढ़ा रही है। सपा सरकार ने बजट का अधिकांश हिस्सा लगभग 60 फीसदी का आवंटन किसानों, गांवों व कृषि आधारित अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए आवंटित किया है। प्रदेश ही नहीं देश के इतिहास में पहली बार किसानों के सिंचाई के लिए नहरों के पानी की निशुल्क व्यवस्था की गई। Also Read - इस डॉक्टर ने पेश की मिसाल, जरूरतमंद बेटियों को दे रहीं शिक्षा, जगा रहीं उम्मीद की अलख

प्रवक्ता ने कहा कि किसानों को न्याय दिलाने के लिए नई राजस्व संहिता लागू की गई है। केंद्र सरकार के नकारात्मक रवैये के बावजूद किसानों को बिजली की उपलब्धता बढ़ाई गई है। Also Read - यूपी: युवती पर बना रहा था धर्म परिवर्तन का दबाव, ग‍िरफ्तार आरोपी पहुंचा जेल की सलाखों के पीछे