लखनऊ: दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी की राजनैतिक जन्मस्थली उत्तर प्रदेश के बलरामपुर को योगी सरकार ने एक बड़ा तोहफा दिया है. प्रदेश सरकार ने बलरामपुर में किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) का सैटेलाइट सेंटर बनाने का निर्णय लिया है. इसके लिए सरकार ने अनुपूरक बजट में पांच करोड़ रुपये की व्यवस्था की है.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का अखिलेश पर हमला, मुगल बादशाह औरंगजेब से की तुलना

यहां केजीएमयू के सैटेलाइट सेंटर की स्थापना का रास्ता साफ हो गया है. जिला प्रशासन ने सैटेलाइट सेंटर की स्थापना के लिए सदर ब्लॉक के बहदुरपुर में 25 एकड़ जमीन का प्रस्ताव भी शासन को भेज दिया है. सरकार की घोषणा को साकार करने के लिए केजीएमयू की टीम भी निरीक्षण के लिए बलरामपुर पहुंच गई. केजीएमयू के सैटेलाइट सेंटर के लिए लगभग सौ एकड़ जमीन की जरूरत होगी. 25 एकड़ में बने संयुक्त चिकित्सालय को भी उसी सैटेलाइट सेंटर का हिस्सा बना दिए जाने के बाद भी अभी 50 एकड़ जमीन की और जरूरत है.

गरीब सवर्णों को मिले 25 प्रतिशत आरक्षण, मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने की वकालत

जल्‍द शुरू होगा काम
तमाम मेडिकल सुविधाएं जनता तक पहुंचाने के लिए उच्चस्तरीय मेडिकल स्टाफ और संसाधनों की आवश्यकता है. केजीएमयू की टीम ने कहा कि जमीन उपलब्ध होने के बाद शीघ्र ही यहां अत्याधुनिक मेडिकल कालेज व सैटेलाइट सेंटर का काम शुरू कर दिया जाएगा. माना जा रहा है कि देश के अतिपिछड़े 115 जिलों में शामिल बलरामपुर के लिए केजीएमयू का सैटेलाइट सेंटर किसी सौगात से कम नहीं.