लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में रेप और छेड़छाड़ की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं. महराजगंज जिले के पुरंदरपुर क्षेत्र के एक गांव में दसवीं में पढ़ने वाली छात्रा ने दरिंदों की हैवानियत से तंग आकर ट्रेन के आगे कूदकर जान देने की कोशिश की. गनीमत रही कि लोगों ने उसे सही समय पर देख लिया और उसकी जान बच गई. उसे जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. घर में छात्रा ने पिता को पूरी कहानी बयां की. पीडि़ता के पिता ने आरोपियों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है.

बच्चियों के साथ रेप पर होगी फांसी, कैबिनेट ने POCSO एक्ट में किए कई बदलाव

जानकारी के मुताबिक, एक युवक ने अपने मोबाइल से एक अन्‍य लड़के के साथ छात्रा की बातचीत करते हुए फोटो खींच लिया था. उसे दिखाकर युवकों ने छात्रा को धमकाया कि घटना के बारे में उसके पिता को बता दिया जाएगा. घरवाले कुछ न जानें इसलिए छात्रा युवकों के झांसे में आ गई. युवकों की हैवानियत करीब एक माह तक जारी रही. जब छात्रा तंग हो गई तो उसने मौत को गले लगाने की ठान ली. दूसरी ओर युवकों ने छात्रा के पिता को भी धमकी दी. इसके बाद वह पुलिस के पास पहुंचे और पूरे मामले की तहरीर दी. पुलिस ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ तहरीर मिली है. मामले की जांच करके कड़ी कार्रवाई की जाएगी.