उन्नाव : गैंगरेप कांड के आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के जेल पहुंचने के बाद जिला प्रशासन ने जेल की सुरक्षा और कड़ी कर दी है. जेल पुलिस चौकी में दो दरोगा सहित 12 पुलिस जवानों को तैनात किया गया है. पीएसी की एक टुकड़ी भी जेल परिसर में लगाई गई है. विधायक के भोजन-पानी सहित जेल प्रशासन को विशेष निगरानी रखने के लिए कहा गया है.Also Read - Uttar Pradesh News: पत्थरबाजी से बचने के लिए यूपी पुलिस ने प्लास्टिक के स्टूल और टोकरी का लिया सहारा, तस्वीरें वायरल

समर्थकों को नहीं मिली मुलाकात की अनुमति
आरोपी विधायक को उन्नाव जेल लाए जाने की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में विधायक समर्थक मुलाकात करने के लिए जेल पहुंचने लगे. हालांकि जेल प्रशासन ने किसी को भी मिलने नही दिया. सुरक्षा का हवाला देते हुए जेल के अधिकारियों ने बाद में मुलाकात करने के लिए कह कर लोगों को लौटा दिया. Also Read - Unnao Case: FSL Report में खुलासा, लड़कियों को दिए गए पानी में मिलाया गया था Herbicide

सीबीआई 2 मई को हाईकोर्ट में पेश करेगी रिपोर्ट
उन्नाव प्रकरण की जांच कर रही सीबीआई टीम 2 मई को उच्च न्यायालय इलाहाबाद बेंच को मुकदमे से संबंधित अब तक की गई जांच की प्रगति रिपोर्ट सौंपेगी. जानकारों के मुताबिक कस्टडी रिमांड खत्म होने के बाद कोर्ट आरोपी विधायक व सह-आरोपी को पाक्सो कोर्ट में पेश करने का आदेश दे सकती है. Also Read - UP: Unnao में कड़ी सुरक्षा के बीच दोनों लड़कियों के शवों का अंतिम संस्‍कार हुआ, FSL Team ने घटनास्‍थल का किया निरीक्षण

सीबीआई ले सकती है विधायक की कस्टडी रिमांड
सूत्रों के मुताबिक सीबीआई आने वाले दिनों में विधायक को एक दिन के लिए फिर कस्टडी रिमांड पर ले सकती है. बताया जा रहा है कि पाक्सो एक्ट के मुकदमे की जांच कर रही सीबीआई, विधायक का पोटेंसी टेस्ट (मर्दानगी परीक्षण) कराने के लिए कस्टडी रिमांड पर उन्हें गैर जिले के किसी अस्पताल लेकर जा सकती है.