नई दिल्ली. विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अयोध्या में राम मंदिर (Ram Temple) का मुद्दा आजकल गर्माया हुआ है. बीते दिनों यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिवाली के मौके पर फैजाबाद का नाम अयोध्या करने को लेकर जहां इस मुद्दे को हवा दी, वहीं उनके दोनों डिप्टी सीएम भी अपने स्तर से मामले को सुर्खियों में बनाए रखना चाहते हैं. यूपी के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा (Dr. Dinesh Sharma) ने रविवार को कहा कि जब भगवान राम चाहेंगे, तभी मंदिर बनेगा. वहीं दूसरे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा. मौर्य ने कहा कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे, लेकिन तारीख राहुल गांधी ही बताएंगे.

डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य के बयानों और खासकर मौर्य के राहुल गांधी को लेकर किए गए तंज ने इस मामले को और रोचक बना दिया है. दरअसल, डिप्टी सीएम डॉ. शर्मा ने बहराइच के कैसरगंज विधायक व मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा के पौत्र के मुंडन संस्कार में शामिल होने आए थे. समारोह के बाद हुई पत्रकार वार्ता में डॉ. शर्मा ने राम मंदिर मसले पर किए गए सवाल पर कहा, “बिना भगवान की इच्छा के कोई कार्य नहीं होता. जब राम चाहेंगे तब मंदिर बन जाएगा. हमारी सरकार रामराज्य व रामकाज के लिए ही कार्य कर रही है.” जिले की भाजपा सांसद सावित्री फुले के अयोध्या में बुद्ध की मूर्ति स्थापित करने के बयान पर उपमुख्यमंत्री ने कहा, “हमारी पार्टी में सिर्फ सीएम व प्रदेश अध्यक्ष जो कहते हैं, वही पार्टी की लाइन होती है. बाकी लोग क्या कहते हैं, यह कोई मायने नहीं रखता.”

इधर, प्रदेश के दूसरे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी राम मंदिर के मसले पर बयान दिया. केशव रविवार को चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि परिसर में आयोजित भाजपा कानपुर आईटी विभाग की बुंदेलखंड क्षेत्र की क्षेत्रीय कार्यशाला को सम्बोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने विपक्षी दलों पर जमकर प्रहार किया. नोटबंदी के मसले पर उन्होंने कहा कि इस मामले में कांग्रेस के साथ-साथ सपा और बसपा भी परेशान है. राम मंदिर का मुद्दा छेड़ते हुए केशव ने जय श्रीराम के नारे लगाए और राम मंदिर का एक नया स्लोगन देते हुए कहा कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे, लेकिन तारीख राहुल गांधी ही बताएंगे.

(इनपुट – एजेंसी)