लखनऊ: शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने राम मंदिर निर्माण की शुरुआत का एलान किया है. ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद ने कहा कि 17 फरवरी को अयोध्या के लिए रवाना होंगे. उनकी यात्रा प्रयागराज से शुरू होगी. वह अयोध्या पहुँच राम मंदिर के निर्माण के लिए नींव रखेंगे. वह मंदिर का शिलान्यास कर देंगे.

प्रयागराज में चल रहे कुंभ पहुंचे शंकराचार्य स्वरूपानंद के इस एलान के बाद हलचल मच गई है. शंकराचार्य ने कहा कि वह प्रयागराज से कूच करेंगे. इस दौरान उनके साथ बड़ी संख्या में साधू संत होंगे. उनका कहना है कि 21 फरवरी को शुभ मुहूर्त है. इस दिन वह मंदिर की नींव रख देंगे. उन्होंने यह भी कहा कि वह किसी फैसले के इंतजार नहीं कर सकते हैं. हाईकोर्ट पहले ही उस स्थान को राम जन्म भूमि घोषित कर चुका है.

प्रियंका गांधी के रोड शो पर सीएम मनोहर खट्टर बोले- फुके हुए कारतूसों से कुछ नहीं होता

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद को लेकर सुनवाई अभी शुरू नहीं हुई है. जनवरी में तीन बार टाली गई. साधु संत बीजेपी सरकार पर मंदिर निर्माण के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं. इसे लेकर बीजेपी पर निशाना साधा जाता रहा. वहीं, बीजेपी सुप्रीम कोर्ट में मामला होने का हवाला देती रही है. वहीं, कुछ दिन पहले विश्व हिन्दू परिषद ने लोकसभा चुनाव तक राम मंदिर निर्माण का अभियान और मांग टालने का एलान किया है. अब शंकराचार्य स्वरूपानंद के एलान के बाद हलचल बढ़ गई है.