लखनऊ: प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा के विवादस्पद बयान को लेकर शिव सेना ने उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और उनका पुतला फूंका. गौरतलब है कि डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने एक बयान में सीता माता को ‘टेस्ट ट्यूब बेबी’ बताया था. जिसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई थी, यहां तक कि उनके खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने के विरोध में केस भी दर्ज कराया गया था. दिनेश शर्मा के बयान के विरोध में शिवसेना ने सोमवार को सरोजनी नगर तहसील में उनका पुतला फूंका और उनसे इस्तीफे की मांग की. शिव सेना का कहना है कि दिनेश शर्मा ने माता सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी बताकर हिंदुओं की भावना को ठेस पहुंचाई है.

भाजपा सरकार हिंदू विरोधी सरकार : शिवसेना
शिवसेना के जिला प्रमुख विश्वजीत सिंह ने केंद्र और राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा सरकार हिंदू विरोधी सरकार है. चाहे केंद्र में हो या प्रदेश में, शिवसेना जिला प्रमुख ने कहा कि  प्रभु रामलला के मुद्दे पर बीजेपी सत्ता में आई है और प्रभु रामलला की दया पर ही पूरे देश पर राज कर रही है. लेकिन यही भाजपा सरकार प्रभु राम की पत्नी सीता का अपमान करती है. उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार को 5 वर्ष पूरे होने को हैं, लेकिन मंदिर का निर्माण अब तक नहीं हुआ उलटे प्रभु रामलला की पत्नी माता सीता पर अमर्यादित टिप्पणी कर जगत जननी को टेस्ट ट्यूब बेबी बताया जा रहा है. दिनेश शर्मा को ओछी मानसिकता वाला बताते हुए विश्वजीत सिंह ने कहा कि ऐसी ओछी मानसिकता रखने वाले व्यक्ति का उप्र सरकार में डिप्टी सीएम पद पर बने रहना दुर्भाग्यपूर्ण है.
(इनपुट एजेंसी )