अयोध्या: आशीर्वाद सभा में शिरकत करने शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे शनिवार दोपहर में अयोध्या पहुंचे. फैजाबाद हवाई अड्डे पर पहले से मौजूद शिव सैनिकों व पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया गया. शिवसेना प्रमुख उद्धव फैजाबाद हवाई अड्डे से सीधे आशीर्वाद सभा के लिए रवाना हो गए. बता दें कि दो स्पेशल ट्रेनों के जरिए हजारों की संख्या में शिवसैनिक पहले से ही अयोध्या में डेरा जमाए हुए हैं. शिव सैनिकों ने शनिवार सुबह हनुमानगढ़ी व रामलला के दर्शन भी किए. शिव सैनिकों के नारों ‘पहले मंदिर फिर सरकार, शिवसेना की यही पुकार, जय भवानी- जय शिवाजी महाराज से समूचा इलाका गुंजायमान है.

अयोध्या में बढ़ रही रामभक्तों की भीड़ और चप्पे-चप्पे पर तैनात सुरक्षा बल किसी छावनी का सा अहसास करा रहा है. 70 हजार सुरक्षा कर्मियों के साथ मुस्तैदी से जुटा प्रशासन सुरक्षा को लेकर किसी भी तरह की ढिलाई बरतने के मूड में नहीं है. शिवसैनिकों की बढ़ती गहमा गहमी  को देखते हुए प्रशासन ने राम जन्म भूमि मार्ग के प्रवेश द्वार और हनुमान गढ़ी जाने वाले मार्गों को बंद कर दिया है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे लक्ष्मण किला में आयोजित आशीर्वाद समारोह में शामिल होने के बाद शाम 6 बजे सरयू आरती में शामिल होंगे.

संविधान से ऊपर हैं भगवान राम, बिना देर किए बनना चाहिए अयोध्या में मंदिर: भाजपा विधायक

बहुत हो चुकी मन की बात
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने और तारीख घोषित करने की मांग की है. मोदी  पर निशाना साधते हुए उद्धव ने कहा है कि ‘अब मन की बात बहुत हो चुकी जन की बात सुनी जानी चाहिए’. भाजपा पर हमला बोलते हुए शिवसेना ने मुखपत्र में लिखा है कि अगर मंदिर निर्माण का मुद्दा आपके हाथ से निकल गया तो 2019 में आपकी रोजी-रोटी के अलावा कई लोगों की जुबान बंद हो जाएगी.

छावनी में तब्दील हुई अयोध्या, चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा, 2 लाख ‘रामभक्तों’ के जुटने का दावा

योगी कैबिनेट के मंत्री ने सेना बुलाने की मांग की
दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि अयोध्या में धारा 144 लगाई गई है, लेकिन फिर भी इतनी बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हो रहे हैं. इसका मतलब है कि प्रशासन फेल हो गया है. राजभर ने कहा कि मैं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से सहमत हूं कि अयोध्या में प्रशासन फेल हो चुका है इसलिए जरूरी है कि वहां सेना बुलाई जाए. शिवसेना के कार्यक्रम व धर्मसभा के आयोजन को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट है.

एडीजी आशुतोष पांडे के नेतृत्व में अयोध्या के डीआईजी ओंकार सिंह समेत डीआईजी सुभाष सिंह बघेल ने कमान संभाल रखी है. अयोध्या में तीन एसएसपी, 10 अपर पुलिस अधीक्षक, 21 उपपुलिस अधीक्षक, 160 इंस्पेक्टर,  700 कांस्टेबल,  42 कंपनी पीएसी, 5 कंपनी आरएफ समेत एटीएस कमांडोज की पूरी बटालियन ड्रोन कैमरे से लैस होकर स्थिति पर नजर रख रही है.