लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बारिश का कहर जारी है पिछले दो दिन से हो रही बारिश के चलते होने वाले हादसों में अब तक 33  से अधिक लोगों की मौत की सूचना है. राजधानी लखनऊ समेत राज्य के अधिकांश हिस्सों में पिछले दो दिनों से रुक-रुककर हो रही तेज बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. दो दिन की बारिश ने ही पूरे प्रदेश की सफाई व्यवस्था की भी कलई खोल के रख दी. सड़को पर जगह जगह जलभराव है. Also Read - 54 जिलों से हैं 50% प्रवासी, 44 यूपी-बिहार के ही, PM मोदी का वाराणसी, योगी का गोरखपुर, अखिलेश का इटावा लिस्ट में

Also Read - यूपी: क्या फिर से अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल सिंह यादव, सपा के वरिष्ठ नेता ने दिया ये बड़ा संकेत

बारिश से बेहाल प्रदेश नाकाम शासन-प्रशासन Also Read - मजदूरों की मदद करने निकला अखिलेश का परिवार, पत्नी डिंपल और बेटी टीना बाँट रही हैं राशन

समाजवादी पार्टी के मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी इस मसले पर वर्तमान सरकार को घेरते हुए तंज कसा है, उनका आरोप है कि सरकारी स्वच्छता अभियान दिखावटी व भ्रष्टाचार से भरा हुआ है. अखिलेश ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि “बारिश से बेहाल गाज़ियाबाद, आगरा व बाकी प्रदेश ने शासन-प्रशासन की नाकामी को देख लिया है. सभी जगहों पर भाजपा के मेयर होते हुए भी, जिस तरह पानी रुकने से जनता त्रस्त हुई है और अरबों की सम्पत्ति नष्ट हुई है, उसने दर्शा दिया है कि ‘स्वच्छता अभियान’ कितना दिखावटी व भ्रष्ट है.

अभी कुछ दिनों तक बारिश से राहत नहीं

पिछले दो दिन की बारिश के चलते विभिन्न स्थानों पर जल भराव हो गया है और कई इलाकों में वायु, रेल एवं सड़क यातायात प्रभावित हुआ है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक अभी अगले कुछ दिनों तक तेज बारिश का दौर जारी रहेगा. उत्तर प्रदेश मौसम विभाग के निदेशक जे पी गुप्ता के अनुसार, शनिवार, रविवार को दिन में कई जिलों में तेज बारिश होने का अंदेशा है. हालांकि बारिश की वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. उन्होंने बताया कि चक्रवाती परिस्थतियां बनने की वजह से अगले दो-तीन दिनों तक मौसम का यही रुख बना रहेगा.

तापमान में गिरावट दर्ज

मौसम विभाग के अनुसार, शनिवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है. लखनऊ के अतिरिक्त शनिवार को गोरखपुर का न्यूनतम तापमान 20 डिग्री, कानपुर का 19.5 डिग्री, इलाहाबाद का 22 डिग्री और झांसी का 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

पश्चिमी यूपी में सबसे ज्यादा तबाही

तेज बारिश के चलते सबसे ज्यादा तबाही आगरा व आस- पास के जनपदों में हुई है सबसे अधिक जनहानि भी पश्चिमी यूपी में ही होने की सूचना है. मैनपुरी में रुक-रुककर होती बारिश के बीच करहल और कुसमरा क्षेत्र में दीवार में दबकर तीन बच्चों की मौत हो गई. वहीं, थाना एलाऊ क्षेत्र में बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई. मथुरा में दीवार ढहने से बुजुर्ग की मौत हो गई. बरेली जिले में दो लोगों की मौत हो गई. छत ढहने से एक बुजुर्ग किसान की मौत हो गई, जबकि एक बच्चा पैर फिसलने से उफनते नाले में बह गया.

UP: बारिश का कहर, प्रदेश भर में 24 घंटे के अंदर 20 से अधिक लोगों की मौत

मुख्यमंत्री योगी ने आर्थिक सहायता की घोषणा की

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आंधी, तूफान, आकाशीय बिजली और अतिवृष्टि से मारे गए लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने संबंधित जिलाधिकारियों को अपने-अपने जिलों में हुई भारी वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य युद्धस्तर पर संचालित करने के भी निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी.