अयोध्या: अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए बुधवार को ‘भूमि पूजन’ समारोह में आमंत्रित हर अतिथि को प्रसाद के रूप में चांदी का एक सिक्का भेंट किया जाएगा. चांदी के सिक्के के एक तरफ राम दरबार की छवि है जिसमें भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान हैं और दूसरी तरफ ट्रस्ट का प्रतीक चिन्ह है.Also Read - Mukhyamantri Tirth Yatra Yojna 2021: दिल्ली से 3 दिसंबर को ट्रेन से रवाना होगा तीर्थयात्रियों का पहला जत्था, अरविंद केजरीवाल का ऐलान

अतिथियों को ‘लड्डू’ का डिब्बा और राम दरबार की तस्वीर भी दी जाएगी. सूत्रों के मुताबिक, 5 अगस्त को अयोध्या के निवासियों और अन्य लोगों को ‘रघुपति लड्डू’ कहे जाने वाले 1.25 लाख से अधिक लड्डू बांटे जाएंगे. Also Read - बाबरी विध्वंस के बाद कैबिनेट मीटिंग में नरसिम्हा राव ने कहा था कि मुझे आपकी सहानुभूति नहीं चाहिए: सलमान खुर्शीद

सभी अतिथि जो अन्य जिलों या राज्य से आ रहे हैं, उन्हें मंगलवार शाम तक अयोध्या पहुंचने के लिए कहा गया है, क्योंकि शाम को जिले की सीमाओं को सील कर दिया जाएगा. Also Read - 500 साल के मुगल और मुसलमानों के शासन में हिंदू धर्म का कुछ नहीं बिगड़ा तो अब खतरा किस बात का है: दिग्विजय सिंह

भूमिपूजन के लिए कुल 175 लोगों को श्री राम मंदिर ट्रस्ट से आमंत्रित किया गया है, जिसमें लगभग 135 संत शामिल हैं, जो देश के विभिन्न हिस्सों से आएंगे. हर निमंत्रण कार्ड पर एक कोड है, जिसे सुरक्षा के लिए बनाया गया है. पूर्व उप प्रधानमंत्री एल.के. आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह समारोह में शामिल नहीं होंगे.

(इनपुट आईएएनएस)