सीतापुर (यूपी): हर रोज की तरह ट्रेन में गश्त कर रही रेलवे पुलिस आज हैरत में पड़ गई. दरअसल, चेकिंग के दौरान ट्रेन के डस्टबिन से रोने की आवाज़ आई. पुलिसकर्मियों ने झांककर देखा तो उसमें नवजात बच्ची थी. पुलिस कर्मियों ने बच्ची को तुरंत ही अस्पताल में भर्ती कराया है. बच्ची की हालत ठीक बताई जा रही है.

हमीरपुर: अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से नवजात बच्ची की मौत, कई घंटे तड़पती रही

अस्पताल में बच्ची के स्वास्थ्य की निगरानी कर रहे डॉक्टर्स का कहना है कि बच्ची का जन्म कुछ दिन पहले ही हुआ है. उसे जन्म के तुरंत बाद ही डस्टबिन में फेंका गया. अगर बच्ची ज्यादा समय तक पड़ी रहती तो उसकी जान भी जा सकती थी.

अस्पताल के बाथरूम में लथपथ हालत में मिली नवजात बच्ची, मौत के मुंह में धकेल चली गई थी मां

सीतापुर की जीआरपी पुलिस ने बताया कि वह मोर ध्वज एक्सप्रेस ट्रेन में रोज की तरह गश्त पर थे. रुटीन चेकिंग कर रहे थे. इसी दौरान अचानक बच्ची के रोने की आवाज सुनाई थी. हम लोग इधर-उधर तलाशने लगे कि आवाज कहां से आ रही है, खोजने पर डस्टबिन में देखा कि बच्ची पड़ी हुई थी. बच्ची तेज रो रही थी. उसे डस्टबिन से उठाकर तुरंत ही अस्पताल में भर्ती कराया. पुलिस को आशंका है कि किसी ने लोकलाज वश बच्ची से छुटकारा पाने के लिए जन्म के बाद उसे यहां फेंक दिया. जांच कर पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि आखिर ऐसा किसने किया.