यूपी में एक बार फिर एक नाबालिग की अस्मत को दबंगो ने तार तार कर दिया है. उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मानवता के शर्मसार कर देने वाली यह घटना सामने आई है. यहां कि पंचायत में एक नाबालिग की अस्मत की कीमत 50 हजार रुपये एक लॉटरी के माध्यम से तय की गई. पंचायत में की गई बेईज्जती के कारण जब न्याय की आस लेकर पीड़िता पुलिस थाने पहुंची तो पुलिस ने छेड़छाड़ की हल्की धाराओं में मामला दर्ज कर मामले को रफा-दफा कर दिया. आज तक की खबर के मुताबिक जब मीडिया ने इस मामले में जांच के लिए दबाव बनाया तब पुलिस हरकत में आई और कार्रवाई करने की बात कही.Also Read - स्‍कूलों की महिला रसोइयों, पंचायत प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ा, पीडीपी सैनिक का वेतन और स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन भी बढ़ी

सीतापुर के थाना थानगांव इलाके में 17 साल की नाबालिग पीड़िता ने आरोप लगाया है कि बीते 29 अक्टूबर की रात जब वह अपने घर में सो रही थी, तभी मोहम्मद अहमद नाम का एक युवक उसके घर में घुस गया और दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. इसके बाद पीड़िता के चीखने चिल्लाने पर मां उठी और आरोपी को पकड़ लिया गया. इस बाबत पीड़िता की मां का कहना है कि गांववालों की बुलाकर उसने मामले की जानकारी दी, जिसके बाद पंचायत का आयोजन किया गया. उन्होंने आरोप लगाया कि इस घटना की शिकायत के लिए जब वह पुलिस के पास जा रही थीं, तभी आरोपियों ने मामले पर पंचायत बुलवाई और सभी के सामने पीड़िता की इज्जत की कीमती लगवाई. Also Read - सीतापुर में भारी बारिश से छत और दीवार गिरी, 7 लोगों की मौत

पीड़िता ने आरोप लगाया है कि पंचायत में उसके नाम की पर्ची लॉटरी के रूप में जारी की ग. इसमें पीड़िता के इज्जत की कीमत 50 हजार रुपये लगाई गई. पंचायत में कहा गया कि जो सी भी पर्ची पीड़िता उठाएगी, उसे आरोपी को जुर्माना देना होगा. इसके बाद मामला रफा-दफा हो जाएगा. लॉटरी के माध्यम से पीड़िता के इज्जत नीलाम होने की बाद जब पुलिस अधिकारियों तक पहुंची तो उन्होंने मामले कार्रवाई का आदेश दे दिया. एसएसपी दिक्षिणी नरेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि इस पूरे मामले की जांच की जा रही है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. Also Read - Rajasthan: 15 साल की लड़की से 18 दरिंदों ने 9 दिन तक गैंगरेप किया, अब तक 20 गिरफ्तार