लखनऊ: उत्तर प्रदेश के एटा जिले के थाना मिरहची क्षेत्र में शनिवार को एक पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट में फैक्टरी संचालिका सहित छह लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. घटना की जानकारी मिलते ही डीएम और एसएसपी सहित कई अफसर मौके पर पहुंच गए. राहत बचाव कार्य जारी है. बताया गया है कि पटाखा फैक्ट्री में 15 से अधिक लोग मौजूद थे. इनमें कई बच्चे व महिलाएं भी शामिल हैं. कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है.


एटा सदर के क्षेत्राधिकारी(सीओ) इरफान खान ने बताया कि कस्बा मिरहची के मोहल्ला गड्ढा स्थित एक मकान में पटाखे बनाए जा रहे थे. मुन्नी देवी पत्नी लालाराम के नाम पटाखा फैक्ट्री का लाइसेंस है. इनका गोदाम पास स्थित एक बगीचे में है. यहां पर आतिशबाजी का सामान रखा हुआ था. खाना बनाते समय कहीं से कोई चिंगारी पकड़ने से आग लग गई और विस्फोट हो गया, जिसमें छह लोगों की मौत हो गई. कई लोग घायल हो गए हैं. घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है. घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी और एसएसपी सहित कई अफसर मौके पर पहुंच गए. राहत बचाव कार्य जारी है. बताया गया है कि पटाखा फैक्ट्री में 15 से अधिक लोग मौजूद थे. इनमें कई बच्चे व महिलाएं भी शामिल हैं. कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है.

घटना के समय मकान के अंदर 15-20 लोग थे मौजूद
स्थानीय लोगों के मुताबिक, मकान के अंदर कम से कम 15-20 लोग मौजूद थे. इनमें कई बच्चे व महिलाएं भी शामिल हैं. पटाखे ठेकेदारी पर बनाए जा रहे थे. इसलिए कुछ श्रमिकों के होने की आशंका है. स्थानीय लोगों के अनुसार, पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट इतना तेज था कि फैक्ट्री के आसपास के मकान गिर गए. जिला प्रशासन के अधिकारी राहत-बचाव कार्य में जुटे हुए हैं.

मकान में एक के बाद एक हुए 15-20 विस्फोट
कस्बे के लोगों ने बताया कि मुन्नी के मकान में पहला विस्फोट हुआ, जिसकी गूंज दूर तक सुनी गई. इसके बाद 15-20 विस्फोट और हुए, जिससे पूरा कस्बा हिल उठा और लोग दहशत में आ गए. चौतरफा धुआं ही धुआं दिखाई दे रहा था. इन विस्फोटों के चलते आसपास के चार-पांच मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए. घटना स्थल के आसपास मानव अंग बिखरे पड़े थे.