मैनपुरी। समाजवादी पार्टी (सपा) संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने आज सपा और बसपा के गठबंधन को अच्छी कोशिश करार देते हुए कहा कि एक साथ आए इन दोनों दलों को अब लोकसभा चुनाव में कोई रोक नहीं सकेगा. यादव ने किशनी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सपा और बसपा का गठबंधन अच्छी कोशिश है. यह पहल जारी रहनी चाहिए. दोनों के एक होने से लोकसभा चुनाव में उन्हें दिल्ली पहुंचने से कोई नहीं रोक सकेगा.Also Read - अखिलेश यादव से मिले उमर खालिद के पिता, योगी आदित्यनाथ बोले- अगर ये लोग आएंगे तो क्या करेंगे

Also Read - अखिलेश यादव और ओपी राजभर की पार्टी में गठबंधन, समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया; सपा-सुभासपा आए साथ, यूपी में भाजपा साफ!

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा के पास जो नीतियां हैं, वे देश की किसी पार्टी के पास नहीं हैं. उन्होंने सभा में सपा का सहयोग करने के लिये बसपा को धन्यवाद भी दिया. उन्होंने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में महंगाई और भ्रष्टाचार साथ-साथ चल रहे हैं. महिलाएं समझदार हैं. वे समझ रही हैं कि किसे वोट देना है. Also Read - सुना है कि बीजेपी अपने 150 MLA के टिकट काटने जा रही... हमने 300 सीटों को पार कर लिया: अखिलेश यादव

यूपी उपचुनावः सपा-बसपा गठजोड़ नहीं, इस वजह से हारी भाजपा

यूपी उपचुनावः सपा-बसपा गठजोड़ नहीं, इस वजह से हारी भाजपा

यूपी की दो अहम लोकसभा सीटों पर उपचुनाव नतीजों ने सपा के हौसले बुलंद कर दिए हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ की सीट गोरखपुर और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से खाली हुई सीटों पर सपा ने कब्जा जमाकर बीजेपी को जबरदस्त झटका दिया. उपचुनाव के लिए सपा-बसपा ने गठबंधन किया था और बीजेपी को जबरदस्त हार झेलने पर मजबूर कर दिया था.

इस जीत ने 2019 के लिए विपक्ष और सपा-बसपा के लिए नए रास्ते खोल दिए. सपा-बसपा ने लोकसभा चुनाव में भी गठबंधन के संकेत दिए हैं. अगर ऐसा होता है तो 2019 में बीजेपी को बड़ा नुकसान हो सकता है. 2014 चुनाव में बीजेपी की सरकार बनाने में यूपी ने ही अहम भूमिका निभाई थी. यहां से बीजेपी ने सहयोगियों के साथ 80 में से 75 सीटों पर कब्जा जमाया था. अगर ये आंकड़ा कम होता है तो बीजेपी के लिए भारी मुश्किल पैदा हो जाएगी.