सहारनपुर: जनपद के गंगोह क़स्बा में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म मामले में पीड़िता के परिजनों ने एसएसपी से मदद की गुहार लगाई है. उन्होंने कैराना के सपा विधायक नाहिद हसन पर आरोपियों के खिलाफ दर्ज कराया गया मुकदमा वापस लेने के लिए दबाव बनाने और ऐसा नहीं करने पर परिणाम भुगतने की धमकी देने का आरोप लगाया है.

मामले की जांच के आदेश
पीड़ित परिवार ने एसएसपी को विधायक की धमकी की ऑडियो क्लिप सौंपकर मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है. तहरीर के आधार पर एसएसपी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं. पुलिस मामले की जांच कर रही है. कस्बा गंगोह निवासी नाबालिग के पिता ने पिछले दिनों क्षेत्र के ही पांच लोगों पर बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म ओर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए इनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था.

जान से मारने की धमकी देने का आरोप
एसपी देहात विद्या सागर मिश्रा ने बताया कि थाना गंगोह को नाबालिग से दुष्कर्म मामले से सम्बंधित एक तहरीर मिली है जिसमें कहा गया है कि कैराना विधायक नाहिद हसन ने केस वापस लेने के लिए शिकायतकर्ता और उसके परिवार को धमकी दी और मुकदमे में समझौता करने का दबाव बनाया. तहरीर में पीड़िता के पिता ने विधायक पर अपशब्द कहने और जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है.

विधायक ने आरोपों से किया इंकार
उधर विधायक नाहिद हसन ने कहा कि युवती के पिता ने पैसों के लिए झूठा मामला दर्ज कराया है. उन्होंने शिकायतकर्ताओं पर निर्दोष लोगों को ब्लैकमेल करने के आरोप लगाए हैं. विधायक ने यह सफाई भी दी है कि उन्होंने परिवार के मुखिया से बात करके उन्हें ऐसा न करने की सलाह दी थी. उन्होंने किसी तरह की धमकी देने की बात से इनकार किया है. एसपी देहात विद्या सागर मिश्रा के मुताबिक पुलिस मामले की जांच कर रही है और जांच के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी.