लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को दोहराया कि सोनभद्र में पिछले दिनों हुए सामूहिक हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त सपा से जुड़ा है. योगी ने विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान सपा सदस्य अमित यादव द्वारा प्रदेश में गत एक मार्च से 15 मार्च के बीच हुई आपराधिक घटनाओं के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति सुदृढ़ है, इसमें किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए. प्रदेश में जो निवेश के उत्साहजनक परिणाम आए हैं, वे बेहतर कानून-व्यवस्था का ही नतीजा हैं.

सीएम योगी का प्रियंका पर निशाना, कहा- सोनभद्र कांड के लिए कांग्रेस जिम्मेदार, सजा को रहें तैयार

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हमारी सरकार को बने अभी ढाई साल नहीं हुए हैं. इस दौरान सांप्रदायिक सौहार्द की स्थिति उच्चकोटि की रही है.

सीएम ने कहा कि जहां तक सोनभद्र में 10 लोगों की नृशंस हत्या का मामला है तो मुझे यह बताते हुए बहुत दुख हो रहा है कि उसमें जो सूत्र सामने आए हैं, वे सिर्फ आज से नहीं बल्कि वर्ष 1955 से जुड़े हैं. उस वक्त कांग्रेस के एक नेता ने वहां के वनवासियों और जनजातीय समुदाय की जमीन को गलत तरीके से एक पब्लिक ट्रस्ट के नाम पर दर्ज कराया. बाद में वर्ष 1989 में उस जमीन को अपने परिवार के सदस्यों के नाम कराया.

कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहती हैं प्रियंका गांधी, इसीलिए सोनभद्र कांड का उठाया फायदा: यूपी के मंत्री का बयान

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि बाद में उस जमीन को खरीदने वाला गांव का प्रधान यज्ञदत्त भोटिया खुद सपा का सदस्य है. ‘वहां का हत्यारा समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है. हम उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे.’ इस पर सपा के सदस्यों ने विरोध किया. शतरुद्र प्रकाश ने कि मुख्यमंत्री को सोनभद्र की घटना के बारे में कुछ भी बोलने का अधिकार है, लेकिन इस वक्त प्रश्नकाल चल रहा है, इसमें सिर्फ प्रश्नोत्तर ही होते हैं. प्रश्न में सोनभद्र के मुद्दे का जिक्र नहीं किया गया है, लिहाजा मुख्यमंत्री का इस विषय पर बोलना ठीक नहीं है. जब इस घटना पर कार्यस्थगन प्रस्ताव आएगा तो मुख्यमंत्री इस पर विस्तार से बोल सकते हैं.

सोनभद्र हत्याकांड पर CM योगी बोले- 1955 में ही पड़ गई थी घटना की नींव, इसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार

इस पर मुख्यमंत्री अपने स्थान पर बैठ गए और थोड़ी देर बाद सदन से चले गए. इसी बीच, नेता विपक्ष अहमद हसन ने इस पर अपनी बात रखने की कोशिश की तो सत्तापक्ष के सदस्यों ने इस पर आपत्ति करते हुए कहा कि खुद सपा के सदस्य ही मुख्यमंत्री के बोलने पर व्यवस्था का प्रश्न उठा रहे थे. इस आपत्ति के बीच सभापति रमेश यादव के निर्देश पर नेता सदन उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने अगले प्रश्न का उत्तर देना शुरू कर दिया.

यूपी के सोनभद्र जिले में जमीन विवाद में 9 लोगों की गोली मारकर हत्या, 19 घायल