लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में किसी मुद्दे को लेकर हुए विवाद के बाद अनुसूचित जाति समुदाय के 11वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक लड़के की उसके कॉलेज के एक वरिष्ठ छात्र ने कथित तौर पर पिटाई कर दी, जिसके कारण समुदाय के सदस्यों ने प्रदर्शन किया. Also Read - 54 जिलों से हैं 50% प्रवासी, 44 यूपी-बिहार के ही, PM मोदी का वाराणसी, योगी का गोरखपुर, अखिलेश का इटावा लिस्ट में

Also Read - नोएडा में टिड्डी दल से बचाव के लिए बनी कमेटी, डीएम ने किसानों को दी सलाह

हापड़: घर के नौकरों ने की 13 साल की मासूम के साथ गैंगरेप के बाद हत्या, विरोध पर भाई का गला काटा Also Read - राजस्थान सरकार पर मायावती का निशाना, कहा किराया मांगना कंगाली और अमानवीयता का प्रदर्शन

सर्किल अधिकारी राम मोहन शर्मा ने गुरुवार को बताया कि यह घटना जिले के भोपा थाना क्षेत्र अन्तर्गत भोकेरहेदी गांव में एक सहायता प्राप्त कॉलेज में हुई. शर्मा ने बताया कि पीड़ित के पिता ने पुलिस के समक्ष की गयी एक शिकायत में आरोप लगाया कि घटना में उसके बेटे के सिर में चोट आई और उस पर जातिवादी टिप्पणी की गयी. सीओ ने बताया कि एक मामला दर्ज किया गया है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

यूपी में एससी-एसटी एक्ट को लेकर सवर्ण संगठनों का प्रदर्शन, वाराणसी में चक्‍काजाम व आगजनी

आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग

घटना को लेकर अनुसूचित जाति के सदस्यों ने एक प्रदर्शन किया जिसने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर कर दिया गया. उन्होंने बताया कि एहतियाती उपाय के तहत अतिरिक्त पुलिस बलों को तैनात किया गया है. पुलिस ने बताया कि कॉलेज ने दोनों छात्रों को प्रतिबंधित कर दिया है.