उत्तर प्रदेश से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. यहां ऑनलाइन क्लासेज के दौरान 10वीं कक्षा के दो छात्रों ने टीचर पर भद्दे कमेंट्स किए और इसके साथ ही अश्लील मैसेज व पॉर्न क्लिप भी भेजे. ये छात्र आजमगढ़ में स्थित अंग्रेजी माध्यम के एक निजी स्कूल में पढ़ते हैं. अनुपस्थित दो छात्राओं का परिचय देकर ये दोनों 12वीं कक्षा के ऑनलाइन क्लासेज में शामिल हुए थे. Also Read - भाई छोटी बहन संग कर रहा था 'छेड़छाड़', बहन ने गुस्से में दरांती से काट डाला...

आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने कहा, “एक निजी स्कूल के प्रिंसिपल और टीचर ने कोतवाली पुलिस स्टेशन में शुक्रवार को शिकायत दर्ज कराई. टीचर ने कहा कि वह 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को व्हाट्स एप के माध्यम से अंग्रेजी पढ़ाती हैं. शुक्रवार सुबह दो छात्राओं ने उन्हें मैसेज भेजकर ग्रुप में एड करने का अनुरोध किया.” Also Read - 69000 Teacher Recruitment: यूपी शिक्षक भर्ती पर रोक लगने पर बोलीं प्रियंका गांधी- एक बार फिर युवाओं के सपनों पर ग्रहण लग गया

टीचर ने अपनी शिकायत में कहा, “जब उन्हें एड किया गया, तो उनमें से एक ने भद्दे मैसेज किए. जब मैंने उन्हें फटकार लगाई, तो दूसरे ने पॉर्न क्लिप भेजा. ये दोनों लगातार अश्लील टिप्पणियां करने लगे. मैंने ग्रुप छोड़ दिया और प्रिंसिपल को इस मामले की सूचना दी.” Also Read - मामूली घरेलू विवाद में पिता को आया इतना गुस्सा कि दोस्त के साथ तीन बेटियों को नदी के पास ले जाकर....! तलाश जारी

विद्यालय प्रशासन की तरफ से उन दोनों लड़कियों के माता-पिता को बुलाया गया, लेकिन उन्होंने कहा कि लड़कियां पिछले 15 दिनों से शहर में नहीं थीं और उनके पास फोन की सुविधा भी नहीं थी. इसके बाद पुलिस को सूचित किया गया.

एसपी ने कहा, “हमने सर्विलांस की मदद से 10वीं कक्षा के दो छात्रों के लोकेशन का पता लगाया और हमें मालूम चला कि दोनों उसी स्कूल से हैं.”

दोनों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और उन्हें रविवार को किशोर सुधार गृह भेज दिया गया. दोनों लड़कों में से एक ने बताया कि उन्हें अपने किसी सीनियर से दो अनुपस्थित छात्राओं के नाम मिले थे, जिसके बाद वे ग्रुप में शामिल हुए.

आजमगढ़ की पुलिस ने अब कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसके तहत एडमिन किसी को ग्रुप में शामिल करने से पहले उसकी सत्यता को आसानी से जांच ले.
(एजेंसी से इनपुट)