ग्रेटर नोएडा: एक स्‍कूल के फिजिकल ट्रेनिंग इंस्‍ट्रक्‍टर ने दसवीं कक्षा के छात्र को कथित तौर पर दूसरे छात्रों के सामने कपड़ उतारकर रैंप वॉक करने को कहा. शनिवार को हुई इस घटना का टीचर ने अपने मोबाइल से वीडियो भी तैयार कर लिया.

बुलंदशहर के सिकंदराबाद में सरकारी स्‍कूल का यह शिक्षक जोनल स्‍पोर्ट्स कॉम्पिटिशन के लिए दूसरे स्‍कूल आया था. छात्र बुलंदशहर जिले के शिकारपुर गांव का है जबकि शिक्षक इसी जिले का भेटोना गांव का रहने वाला है. शिक्षक को कॉन्‍ट्रैक्‍ट के आधार पर नियुक्‍त किया गया था और वह तीन दिनों की प्रतियोगिता के लिए यहां आया था और एक प्राइवेट स्‍कूल में तीन दिनों के लिए छात्रों के साथ ठहरा था.

सौ साल पहले: जब मथुरा की पुलिस बैरक में रातभर रुके थे गांधीजी

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मामले की शुरुआत तब हुई जब चार छात्रों ने पीडि़त छात्र से वह गद्दा मांगा जिस पर वह सो रहा था. पीडि़त छात्र ने गद्दा देने से इंकार किया तो वे फिजिकल इंस्‍ट्रक्‍टर को बुला कर ले आए. शिक्षक ने छात्र को डराने-धमकाने के साथ उसका वीडियो भी तैयार कर लिया. बाद में पीडि़त छात्र ने पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी. हालांकि, कोई केस दर्ज नहीं किया गया है लेकिन पुलिस को घटनास्‍थल से छात्र का वीडियो मिला है.

बेटे की हत्‍या की जांच में पुलिस का ढीला रवैया, क्षुब्‍ध मुस्लिम परिवार ने हिंदू धर्म स्‍वीकारा

खबरों के अनुसार शिक्षक को रविवार सुबह तक थाने में रोक कर रखा गया था जब तक कि पीडि़त छात्र के अभिभावक वहां नहीं पहुंचे. गौतमबुद्ध नगर के स्‍कूल इंस्‍पेक्‍टर प्रवीण कुमार उपाध्‍याय ने बताया कि उन्‍हें इस घटना के बारे में जानकारी मिली है ओर इसकी जांच की जा रही है.