लखनऊ: उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में सनसनीखेज मामला सामने आया है. जिले के सुरियावा थाना क्षेत्र के एक गांव में रिहायशी ज़मीन पर ज़बरदस्ती बैंगन की बुवाई का विरोध करने पर पंद्रह साल के एक किशोर को उसके तीन सगे चाचा और चाचा के एक लड़के ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया. मामले में पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

पुलिस ने बुधवार को बताया कि रिश्तेदारों की पिटाई से घायल किशोर बसंत लाल (15) की इलाज के दौरान मौत हो गई. मौत की खबर लगते ही आरोपी घर में ताला लगा कर फरार हो गए. पुलिस ने बताया कि सुरयावा थाना के अमिलहरा गाँव के चार लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है. थाना प्रभारी विजय प्रताप सिंह ने बताया कि दो दिन पहले रास्ते की ज़मीन पर तेजा बिन्द, तूफानी बिन्द, विशम्भर बिन्द और इनमे से एक का बेटा योगेश बैंगन बो रहे थे.

सिर में गंभीर चोट के चलते तोड़ा दम
बसंत लाल ने उन्हें आम रास्ते पर ऐसा नहीं करने की सलाह दी. इस पर चारों ने मिलकर उसे लाठी डंडे से पीट दिया. थाना प्रभारी ने बताया कि सिर में गंभीर चोट के चलते मंगलवार को उसे यहाँ से वाराणसी के ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया जहाँ बुधवार दोपहर उसकी मौत हो गई.
(इनपुट एजेंसी)