देहरादून: जनपद के कैंट इलाके में शुक्रवार तड़के ब्रिटिश पीरियड का बना लोहे का एक पुल ढह जाने से उस पर होकर गुजर रहा एक डंपर (छोटा ट्रक) और एक मोटरसाइकिल दुर्घटनाग्रस्त हो कर नीचे खड्ड में गिर गए. इस हादसे में दो व्यक्तियों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए. 100 साल से अधिक पुराना ये पुल अपनी मियाद पूरी कर चुका था फिर भी इस पर वाहनों का आवागमन चालू था.

भाजपा सांसद की मांग – टेंट में रह रहे प्रभु राम को भी मिले प्रधानमंत्री आवास, उन्हें भी ठंड लगती है

जर्जर हो चुका था पुल
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कैंट एरिया के बीरपुर क्षेत्र में तमसा नदी पर स्थित ब्रिटिश कालीन लोहे का पुल ढह जाने से उस पर होकर गुजर रहा एक डंपर और एक मोटरसाइकिल भी पुल के साथ-साथ नीचे आ गिरे. सुबह करीब पांच बजे हुए इस हादसे में दो व्यक्तियों की मौत हो गई.

दुर्घटना में तीन अन्य व्यक्ति घायल भी हुए हैं जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि 100 साल से भी ज्यादा पुराना यह पुल जर्जर हो गया था और इसकी जगह पर नया पुल बनाया जाना प्रस्तावित था लेकिन इससे पहले ही यह दुर्घटना हो गई. यह पुल सीएम आवास से महज दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. इस पुल के गिर जाने से कई गांवों और प्रमुख देवीस्थल मां संतला देवी मंदिर, जनतंबाला, बानगंगा, काण्डली, जामुन बाला,  झाडूबाला आदि गांवों को जोड़ने वाला सम्पर्क टूट गया है. गौरतलब है कि इस जर्जर हो चुके पुल की मरम्मत व नए पुल की मांग स्थानीय नागरिकों द्वारा काफी समय से की जा रही थी.

सीनियर सिटिजंस और महिलाओं को टिकट मिलना हुआ आसान, रेलवे ने किया ये बदलाव