लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के हिंदू संतों और महंतों से कहा है कि वे कम से कम पांच या दस गाय या बैल पालें. राम मंदिर आंदोलन के नेता रामचंद्र परमहंस की 15वीं पुण्यतिथि पर अयोध्या के दिंगबर अखाड़ा मंदिर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने यह बात कही.Also Read - Delhi CM अरविंद केजरीवाल राम लला के दर्शन के लिए जाएंगे अयोध्‍या

Also Read - फैजाबाद रेलवे जंक्शन को अब 'अयोध्या कैंट' कहा जाएगा, यूपी सरकार ने बदला नाम

योगी सरकार ने किया बरेली समेत तीन हवाई अड्डों के नाम बदलने का आग्रह Also Read - Ayodhya: जानिए कब कर पाएंगे गर्भगृह में भगवान राम के दर्शन? अब तक कितना हुआ मंदिर निर्माण?

इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि महराज जी ने धार्मिक व सामाजिक क्षेत्र में अविस्मरणीय कार्य किए हैं. महन्त रामचन्द्र परमहंस जी महाराज आज भी अपने कार्यों द्वारा हमारा मार्गदर्शन कर रहे हैं. वर्तमान सरकार अयोध्या को उत्कृष्ट रूप से विकसित करने के लिए प्रयासरत है. उन्‍होंने कहा कि अयोध्या में कई लावारिस गाय हैं जो बदहाल स्थिति में हैं. उन्होंने कहा कि हिंदू नेताओं को निश्चित रूप से इन जानवरों का संरक्षण करना चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के राज्य में सत्ता में आने के बाद अवैध बूचड़खानों को बंद किया गया है. इसकी वजह से कई गाय और बैल सड़कों और खेतों में घूम रहे हैं.

अयोध्‍या के महंतों से किया अनुरोध

उन्होंने कहा कि इस स्थिति से निपटने के लिये राज्य सरकार ने गौशाला बनाने के लिये रकम जारी की है लेकिन यह सिर्फ सरकार की जिम्मेदारी नहीं है. जनसहयोग आवश्यक है. इसलिये मैं अयोध्या के महंतों से अनुरोध करूंगा कि वे कम से कम पांच गायों या बैलों को पालने की जिम्मेदारी लें और उसका खर्च वहन करें.