लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानमंडल का मानसून सत्र कल यानी 23 अगस्त से शुरू हो रहा है. इसको लेकर विधानसभा अध्यक्ष ने सर्वदलीय बैठक बुलाई. बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी समेत सभी दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया. इसमें विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही सुचारु रूप से चलाने के लिए सबसे सहयोग करने का अनुरोध किया.

 

विधानसभा में हुई सर्वदलीय बैठक में विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सभी दलों के नेताओं से सत्र संचालन में सहयोग करने की अपील की और कहा कि जनता से जुड़े सवालों को अगर विपक्ष उठाएगा तो सभी को पर्याप्त अवसर दिए जाएंगे. वहीं दूसरी ओर, विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी ने प्रदेश में बढ़ती आपराधिक घटनाओं को देखते हुए कानून व्यवस्था के मुद्दे को सदन में उठाने की बात कही. हाल में ही यूपी में घटी कई घटनाओं का जिक्र करते हुए चौधरी ने कहा कि यूपी में बेटियां असुरक्षित हैं. बलात्कार, छिनैती की घटनाएं बढ़ गई हैं.

यूपी मंत्रिमंडल की बैठक में 9 प्रस्तावों पर मुहर, अटल बिहारी वाजपेयी को दी गई श्रद्धांजलि

विपक्ष ने दिया सदन चलने में सहयोग का आश्‍वासन
बैठक में हालांकि रामगोविंद ने सदन चलाने में विपक्ष की तरफ से पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया. बैठक में शामिल बसपा नेता लालजी वर्मा ने कहा कि वर्ष 2019 के चुनाव को देखते हुए भाजपा झूठे दुष्प्रचारों का सहारा ले रही है. लेकिन हम आम किसानों, प्रदेश में आई बाढ़ तथा सूखे की समस्याओं को पुरजोर तरीके से सदन में उठाएंगे. कांग्रेस के नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कि यूपी में आराजकता का माहौल है. अभिव्यक्ति की आजादी समाप्त हो गई है. जो भी विरोध कर रहा है, उसपर सरकार हमलावर हो रही है और उसकी आवाज दबाने की कोशिष की जा रही है.

यूपी के सीएम योगी ने की निशानेबाज सौरभ चौधरी को 50 लाख व सरकारी नौकरी देने की घोषणा

23 से शुरू होकर 31 अगस्त तक चलेगा मानसून सत्र
बता दें कि यूपी में विधानमंडल का मानसून सत्र 23 अगस्त से शुरू होकर 31 अगस्त तक चलेगा. इस दौरान 27 अगस्त को सदन में अनुपूरक बजट पेश किया जाएगा. इस बार भी विपक्ष ने सरकार को घेरने की पूरी तैयारी की है. लेकिन सरकार भी इसका जवाब देने की तैयारी में जुटी हुई है.