लखनऊ: देश में नेताओं को भगवान की तरह पूजने के नए चलन में अब उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) का नाम भी जुड़ गया है. पार्टी के समर्थकों ने दल के अध्यक्ष और सूबे के काबीना मंत्री ओमप्रकाश राजभर की ‘चालीसा’ बना डाली है और उनकी पूजा शुरू कर दी है. Also Read - UP Lockdown News: यूपी में फिर से लगेगा लॉकडाउन या नहीं, अटकलों के बीच सरकार ने कही बड़ी बात, जानें लेटेस्ट अपडेट्स

Also Read - Viral Post: पुलिस नहीं ढूंढ़ पा रही लापता भाई, बहन ने सोशल मीडिया पर लोगों से मांगी मदद

यूपी के बलिया जिले के सुखपुरा थाना क्षेत्र स्थित राजभर बिरादरी के बाहुल्य वाले धर्मपुरा गांव में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और प्रदेश के दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री ओम प्रकाश राजभर की तस्वीर उनके लगभग हर समर्थक के घर में टंगी हुई है. राजभर के समर्थक ‘ओमप्रकाश चालीसा’ पढ़कर उनकी पूजा करते हैं. वे धर्मपुरा गांव स्थित काली मंदिर में सप्ताह में एक दिन जुटते हैं और मंदिर के द्वार पर राजभर की प्रतिमा रखकर उसकी विधिवत पूजा-अर्चना करते हैं. राजभर समर्थक पूजन के साथ कामना करते हैं कि उनके नेता सूबे के मुख्यमंत्री बनें. Also Read - First Love Jihad Law Case: यूपी में 'लव जिहाद' कानून के तहत पहला मामला दर्ज, हिंदू लड़की का धर्म बदलवाना चाहता था उवैश अहमद

ओपी राजभर का केंद्र सरकार पर हमला, कहा- स्‍टेशन का नाम बदलने से ट्रेन टाइम पर नहीं आने लगेंगी

कबीना मंत्री को कुछ भी नहीं लगता गलत

दिलचस्प यह है कि इसमें खुद ओमप्रकाश राजभर को कुछ भी गलत नहीं लगता है. राजभर का कहना है वह भगवान शिव के उपासक हैं. उन्होंने गरीबों के लिए संघर्ष किया है. गरीबों की नजर में जो दाता होता है वही उनके लिए भगवान बन जाता है. रोजाना राजभर की प्रतिमा की आरती उतारने वाली सुगरी देवी कहती हैं कि वह गरीबों के मसीहा और दुखहर्ता हैं, इसलिए वह उनको भगवान मानती हैं.

UP: प्रदेश के विभाजन के बिना पूर्वांचल का विकास संभव नहीं है: कैबिनेट मंत्री राजभर

लोगों की चाहत, राजभर बनें मुख्‍यमंत्री

अचंता देवी का भी कुछ ऐसा ही मानना है. उनका कहना है कि राजभर दुःख दूर करते हैं. नशाबंदी करा रहे हैं. उसकी चाहत है कि राजभर मुख्यमंत्री बन जाएं.  विशुन देव राजभर कहते हैं कि ओमप्रकाश सामाजिक विषमता के खात्मे की लड़ाई लड़ रहे हैं. वह भगवान के अवतार के रूप में दुखियारों की लड़ाई और उनको विकास की मुख्यधारा में लाने का काम कर रहे हैं. मालूम हो कि सुभासपा उत्तर प्रदेश की भाजपा नीत सरकार का घटक है. उसके चार विधायक हैं.