Corona Virus: यूपी में कोरोना संक्रमण काफी हद तक काबू में आ गया है. यूपी में अब 11 जिले ऐसे हैं, जहाँ कोरोना वायरस संक्रमण पूरी तरह काबू में आ चुका है. इन जिलों में एक भी सक्रिय मामला नहीं है. पूरे प्रदेश में सक्रिय केस भी अब हजार के नीचे ही चले गए हैं. प्रदेश में अब महज 857 सक्रिय केस ही दर्ज किए गए हैं. बता दें कि कोरोना के शुरूआती दिनों (18 अप्रैल 2020) में ये स्थिती थी. टेस्ट और टीकाकरण की प्रक्रिया तेजी से चल रही है जिसके चलते प्रदेश रोज नए कीर्तिमान गढ़ रहा है. रोजाना ढाई लाख से तीन लाख टेस्ट करने वाला यूपी में अब तक 06 करोड़ 42 लाख 77 हजार 972 कोविड सैम्पल की जांच की जा चुका है.Also Read - नई स्टडी में खुलासा: बहुत चालाक होते हैं वायरस, शरीर में घुसकर हमला करने की बनाते हैं रणनीति, जानकर होगी हैरानी

पिछले 24 घंटों में यूपी में 2 लाख 27 हजार 740 कोरोना सैम्पल की जांच की गई, जिसमें से महज 33 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई. इस दौरान प्रदेश का पॉजिटिविटी दर 0.01 फीसद रहा. प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 98.6 फीसद है जो दूसरे प्रदेशों से काफी बेहतर है. अब तक 16 लाख 85 हजार से अधिक प्रदेशवासियों ने कोरोना संक्रमण को मात दी है. Also Read - सावधान: चमगादड़ में मिला कोरोना जैसा खतरनाक वायरस, वैक्सीन का भी नहीं इस पर असर

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, बीते दिन प्रदेश के किसी भी जिले में दोहरे अंक में नए केस की पुष्टि नहीं हुई है. यूपी के 53 जिलों में संक्रमण के एक भी नए केस की पुष्टि नहीं हुई, जबकि 22 जनपदों में इकाई अंक में संक्रमित मरीज पाए गए. जनपद अलीगढ़, बदायूं, बस्ती, बहराइच, एटा, फतेहपुर, हमीरपुर, हाथरस, कसगंज, महोबा और श्रावस्ती में अब कोविड का एक भी मरीज नहीं है. यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं. Also Read - तो क्या खत्म हो गया है कोरोना वायरस, जो बाइडेन के बयान के बाद WHO ने दी है ये चेतावनी-जानिए क्या कहा

अब तक केवल मेडिकल कॉलेजों में पीडियाट्रिक आईसीयू व आइसोलेशन बेड की संख्या 6522 से अधिक हो गई है वहीं, स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों में लगभग 3000 पीडियाट्रिक आईसीयू व आइसोलेशन तैयार किए जा चुके हैं. अब तक उत्तर प्रदेश में 04 करोड़ 47 लाख 13 हजार से अधिक कोविड वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है. इसमें, केवल जुलाई माह में एक करोड़ 32 लाख से अधिक वैक्सीन डोज दी गई हैं. प्रदेश के 03 करोड़ 74 लाख से अधिक लोगों को टीकाकरण की एक डोज दी जा चुकी है.