अमेठी: केंद्रीय मंत्री एवं स्थानीय लोकसभा सांसद स्मृति जुबिन ईरानी ने गुरुवार को कहा कि 2019 में लोकसभा का चुनाव न जीत पाने वाले लोग शाहीन बाग जैसे मामलों को समर्थन देकर देश तोड़ने का काम कर रहे हैं. केंद्रीय मंत्री ईरानी ने कहा, ‘मैं ऐसे राजनेताओं से पूछना चाहती हूं कि क्या उनका राजनीतिक स्तर इतना गिर गया है कि वे देश तोड़ने की बात करने वालों के साथ खड़े हो गए हैं. ऐसे राजनैतिक दलों और नेताओं को देश की जनता देख रही है.’ Also Read - Who Is Paayel Sarkar: कौन हैं पायल सरकार? जिन्होंन आज थाम लिया भाजपा का दामन

आम आदमी पार्टी का नाम लेते हुए स्मृति ने कहा, ” इसके नेता मनीष सिसोदिया तथा कुछ ऐसे ही दल शाहीन बाग के धरना प्रदर्शन को समर्थन दे रहे हैं, जहां देश विरोधी नारे लग रहे है, संविधान की आलोचना हो रही है, महात्मा गांधी को कोसा जा रहा है, जिन्ना वाली आजादी की बात हो रही है, हमारे समाज के कुछ समुदायों की कब्र बनाने की बात हो रही है.’ Also Read - West Bengal: BJP अध्‍यक्ष JP Nadda ने लॉन्‍च किया 'सोनार बांग्‍ला' अभियान, एक्‍ट्रेस Payel Sarkar ने ज्‍वाइन की भाजपा

स्मृति ने गंगा यात्रा के सवाल पर कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि उन्हें गंगा यात्रा में शामिल होने का अवसर मिला. कांग्रेस नेताओं सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी की गत दिनों हुई अमेठी यात्रा पर पूछे गए सवाल को स्मृति टाल गईं. Also Read - Lokkho Sonar Bangla Campaign LIVE: WB Election में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, JP Nadda ने लॉन्च किया सोनार बांग्ला

केंद्रीय मंत्री ने अमेठी के भेटुआ में पांच करोड़ 74 लाख रुपए लागत की 20 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए बिना नाम लिए हुए राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि पहले अमेठी में नेताओं के घर सोलर लाइट लगती थी, लेकिन अब जनता के घर लगेगी.

यहीं पर स्मृति ने किसान कल्याण केंद्र का उद्घाटन भी किया. स्मृति ईरानी 20 जनवरी को सड़क हादसे में मारे गये लोगों के परिजनों से मिलने भरेथा गांव गईं. बता दें गत 20 जनवरी को गौरीगंज-अमेठी मार्ग पर बारामासी कस्बे के पास ट्रक और जीप की टक्कर में जीप सवार पांच लोगों की मौत हो गई थी .

स्मृति ने बताया, जिला प्रशासन की तरफ से 30-30 हजार रुपए मृतकों के परिजन को दिए ग हैं. शीघ्र ही पांच पांच लाख रुपए मुख्यमंत्री की तरफ से मिलेंगे. उन्होंने कहा कि इस संबंध मे उनकी बात हो गई है.

बता दें सोनिया और प्रियंका भी मृतकों के परिजनों से मिलने 23 जनवरी को अमेठी आईं थीं. सपा विधायक राकेश सिंह के नेतृत्व में पार्टी विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल 24 जनवरी मृतकों के परिजनों से मिला था और सरकार से 25 -25 लाख रुपए की आर्थिक मदद की मांग की थी.