लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में मेरठ जिले के सरधना विधायक संगीत सोम को लापता बताने वाले पोस्‍ट को सोशल साइट्स पर वायरल करना कुछ लोगों को भारी पड़ गया. पुलिस ने मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. वायरल पोस्‍ट में 17 अगस्‍त को सरधना में कुछ लोगों ने एक घर में घुसकर 14 साल की छात्रा से गाली-गलौच की और उसे केरोसिन डालकर जला दिया था. झुलसी छात्रा की हालत नाजुक बनी हुई है. इसी मामले को लेकर विधायक संगीत सोम को लापता बताया गया था.

इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘व्हाट्स फॉर द मिसिंग’ नामक व्हाट्सएप और फेसबुक पर पोस्ट ने कहा गया कि संगीत सोम 15 अगस्त से लापता हैं. सरधना घटना के संबंध में आपको कोई भी कुछ नहीं कहेगा. आप इस मुद्दे पर खुद को तनाव नहीं देंगे क्योंकि पीड़ित आपकी बेटी नहीं है. आप समाज के लिए एक कलंक हैं और वोट प्राप्त करना ही आपकी मुख्य चिंता है. कोई भी आपकी छाती को माप नहीं पाएगा. पोस्ट में यह भी कहा गया है कि जो भी संगीत सोम के ठिकाने के बारे में जानकारी देगा उसे 101 रुपये का इनाम दिया जाएगा.

लोकसभा चुनाव 2019: अगले आम चुनाव को लेकर उत्तरप्रदेश में छोटे दलों की जोर-आजमाइश

व्हाट्सएप ग्रुप में पोस्‍ट किया साझा
सरधना के रहने वाले एजाज खत्री ने व्यापारियों के व्हाट्सएप ग्रुप में इस पोस्‍ट को साझा किया, जिसमें कई स्थानीय भाजपा नेता शामिल हैं. समूह के एक सदस्य ने बीजेपी के विनोद जैन को पोस्‍ट के बारे में बताया. जिसके बाद उन्होंने सरधना पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की. पुलिस ने आईटी अधिनियम के तहत एजाज और दो अन्य को गिरफ्तार किया है. पुलिस स्टेशन के प्रभारी दिलीप सिंह ने कहा कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है. उधर, विधायक संगीत सोम ने कहा कि राजनीतिक विरोधियों ने उनकी छवि को बदनाम करने की कोशिश की है. उन्‍होंने कहा कि झुलसी छात्रा को लेकर सभी भाजपाइयों में चिंता है.