बागपत: उत्‍तर प्रदेश के बागपत जिले में एक ऐसा रेप का मामला सामने आया है, जिसमें मासमू छात्रा से रेप के आरोप में तीन सगे भाईयों को अरेस्‍ट किया गया है. गिरफ्तार किए गए लड़के न केवल नाबालिग हैं, बल्‍कि उनकी उम्र भी बेहद कम है. इनकी उम्र है 13, 11 और 10 साल. आरोप है कि इनमें सबसे बड़े भाई ने तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली एक मासूम छात्रा के स्‍कूल के शौचालय में रेप किया, जबकि दोनों छोटे बाहर खड़े होकर भाई चौकसी कर रहे थे. इस मामले को लंबे समय तक छिपाए रखने में थानाध्‍यक्ष्‍ा के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है.

पुलिस के मुताबिक, रमाला क्षेत्र में तीसरी कक्षा की छात्रा के साथ प्राथमिक विद्यालय के शौचालय में दुष्कर्म के मामले में तीन सगे नाबालिग भाईयों को हिरासत में लिया गया है. मामले को काफी दिनों तक छुपाए रखने के आरोप में संबंधित थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर कर दिया गया है, जबकि स्कूल के प्रधानाध्यापक समेत दो शिक्षकों को निलंबित किया गया है.

एसप गोपेन्द्र यादव ने बुधवार को बताया कि रमाला थाना क्षेत्र के एक गांव में 16 अगस्त को प्राथमिक पाठशाला में पढ़ने वाली तीसरी कक्षा की छात्रा के साथ उसी के स्कूल के 13 वर्षीय एक छात्र ने बाथरूम में कथित रुप से दुष्कर्म किया था, जबकि उसके 10 और 11 वर्षीय दो भाई घटना के समय टॉयलट के बाहर खड़े थे.

एसपी ने बताया कि छात्रा के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें हिरासत में ले लिया है. तीनों आरोपियों को किशोर न्यायालय में पेश किया जाएगा. इनमें एक कक्षा पांच का छात्र है, जबकि दो अन्य भाई कक्षा चार और तीन में पढ़ते हैं. पीड़ित बच्ची अब भी जिला अस्पताल में ही भर्ती है. उसकी मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि हुई है.

पुलिस अधीक्षक के अनुसार थानाध्यक्ष नरेश कुमार सिंह ने 15 दिन तक मामले को छिपाए रखा. उन्हें लाइन हाजिर कर क्षेत्राधिकारी नगर ओमपाल सिंह को जांच सौंपी गई है.