मुज़फ्फरनगर: नया गांव इलाके में मिलावटखोरी की मिल रही शिकायतों के मद्देनजर मिलावटखोरों के खिलाफ जांच करने गई खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम के साथ व्यापारियों ने जमकर बदसलूकी व हाथापाई की. खाद्य विभाग की टीम नयागांव इलाके में दूध की शुद्धता समेत एन्य खाद्य पदार्थों की जांच के लिए पहुंची थी. टीम ने कई व्यापारियों की कंफैक्शनरियों में छापे मारकर दूध, दही और मावा के नमूने जांच के लिए जब्त किए.

जांच कर रही टीम से व्यापारियों ने की झड़प
वाकया शनिवार को उस समय घटित हुआ जब जांच का काम रही टीम मीरानगर के दूध व्यवसायी संतरपाल और अमरपाल की कंफैक्शनरी से दूध के नमूने लेने पहुंची. दोनों व्यापारियों ने नमूने इकट्ठा किए जाने का विरोध किया और फोन कर कई लोगों को मौके पर बुला लिया. खाद्य विभाग की टीम की अगुवाई कर रहे अधिकारी विनीत कुमार ने बताया कि लोगों ने टीम के साथ हाथापाई शुुरू कर दी और जो नमूने संतरपाल और अमरपाल की कंफैक्शनरी से लिये गए थे उन्हें भी नष्ट कर दिया.

दर्ज किया गया 20 लोगों पर मुकदमा
सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची. पुलिस के पहुंचने के बाद जांच टीम को व्यापारियों के चंगुल से बचाया जा सका. पुलिस ने बवाल और विरोध कर रहे बीस लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने और सरकारी कर्मचारियों से हाथापाई करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और मुख्य आरोपी संतरपाल और अमरपाल को हिरासत में ले लिया गया है.

पहले भी हुई हैं ऐसी घटना
पूरे मामले में जांच कर रही टीम के कुछ लोगों को चोटें भी आयी हैं. टीम के सदस्यों का कहना है कि मुज़फ्फरनगर में जांच के दौरान हुई ये कोई पहली घटना नहीं है पहले भी जांच में लगी टीम को व्यापारियों के विरोध का सामना करना पड़ा है. अधिकारियों के मुताबिक इन मिलावटखोरों ने काकस बना रखा है जिसके चलते ये विभागीय कारवाईयों में अड़ंगे डालते हैं. हालांकि प्रशासन का कहना है कि दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी. मुख्य आरोपी संतरपाल और अमरपाल को हिरासत में ले लिया गया है. मामले  की तफ्तीश जारी है.