लखनऊ: महाराष्ट्र के पालघर में हुए साधुओं की हत्या मामले की आंच अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि एक नया मामला बुलंदशहर में देखने को मिला. यहां मंदिर परिषर के अंदर 2 साधुओं की हत्या ने खलबली मचा दी है. सोशल मीडिया हो या राजनीतिक लोग हर जगह इस बात की चर्चा जोरों पर शुरू हो चुकी है. इस मामले को बाहर आते ही सोशल मीडिया पर साधुओं की हत्या का मामला एक बार फिर ट्रेंड करने लगा है. ट्विटर पर भी यह ट्रेंड कर रहा है. Also Read - एकतरफा इश्क में सिरफिरे युवक ने शादी से तीन दिन पहले ली युवती की जान

इस मुद्दे पर बोलते हुए यूपी के पूर्व सीएम व समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी बयान जारी किया है. पूर्व सीएम ने ट्वीट कर लिखा- उप्र के बुलंदशहर में मंदिर परिसर में दो साधुओं की नृशंस हत्या अति निंदनीय व दुखद है. इस प्रकार की हत्याओं का राजनीतिकरण न करके, इनके पीछे की हिंसक मनोवृत्ति के मूल कारण या आपराधिक कारण की गहरी तलाश करने की आवश्यकता होती है. इसी आधार पर समय रहते न्यायोचित कार्रवाई करनी चाहिए. Also Read - यूपी में कल से खुलने जा रहे मंदिर, मस्जिद और मॉल्स, योगी आदित्यनाथ का आदेश- नियमों का हो अनुपालन

इस बाबत यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर जिले के जिलाधिकारी व एसएसपी को मामले पर नजर बनाए रखने व दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाी करने का आदेश भी दे दिया है. वहीं इस मामले पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा- अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही उप्र में सौ लोगों की हत्या हो गई.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि तीन दिन पहले एटा में पचौरी परिवार के 5 लोगों के शव संदिग्ध परिस्थितियों में पाए गए. कोई नहीं जानता उनके साथ क्या हुआ. आज बुलंदशहर में एक मंदिर में सो रहे दो साधुओं को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया. ऐसे जघन्य अपराधों की गहराई से जांच होनी चाहिए और इस समय किसी को भी इस मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए. निष्पक्ष जाँच करके पूरा सच प्रदेश के समक्ष लाना चाहिए. यह सरकार की जिम्मेदारी है.

बता दें कि इस घटना के बाद ग्रामीणों में काफी रोष देखा जा रहा है. बता दें कि मृतक जगनदास (55) व सेवादास (35) दोनों पिछले 10 साल से मंदिर में ही रह रहे थे. सोमवार रात दोनों साधुओं की तेज धार हथियार से हत्या क दी गई. मंगलवार सुबह जब पुलिस सूचना पाकर पहुंची तो मंदिर परिसर में खून से लथपथ शव पड़ा मिला. इसके बाद माहौल गरमा गया और बड़ी संख्या में ग्रामीण इक्ट्ठा हो गए. बता दें कि पुलिस ने इस घटना के आरोप में एक शख्स राजू को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है.