अयोध्या: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पत्नी रश्मी और बेटे आदित्य के साथ शनिवार को अयोध्या के हाई-प्रोफाइल दौरे पर पहुंच चुके हैं, जहां इनका उद्देश्य चुनाव से पहले राम मंदिर के निर्माण की मांग करने वालों में प्रमुखता से उभरकर सामने आना बताया जा रहा है. ठाकरे परिवार विमान से फैजाबाद पहुंचने के बाद अयोध्या के लक्ष्मण किला में एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रवाना हुआ. आशीर्वाद सभा में शिरकत के बाद ठाकरे परिवार शनिवार शाम सरयू नदी के किनारे ‘महा-आरती’ में शामिल होगा.

‘हर हिंदू की यही पुकार पहले मंदिर फिर सरकार’
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पुणे के शिवनेरी किले (जहां शिवाजी का जन्म हुआ था) की मिट्टी भी एक कलश में लेकर अयोध्या पहुंचे हैं. यह मिट्टी वह राम जन्मभूमि के महंत को सौंपेंगे. पुणे की जुन्नर तहसील में स्थित शिवनेरी किला मराठा छत्रपति शिवाजी महाराज की जन्मस्थली है. उद्धव ठाकरे दो दिवसीय दौरे पर शनिवार को अयोध्या पहुंचे हैं. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का कहना है कि जब तक राम मंदिर नहीं बनेगा तब तक सरकार भी नहीं बनेगी. उन्होंने ‘हर हिंदू की यही पुकार पहले मंदिर फिर सरकार’ का नारा भी दिया है.

आशीर्वाद सभा में हिस्सा लेने अयोध्या पहुंचे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे

लक्ष्मण किला में, आम लोगों के अलावा बड़ी संख्या में साधु-संत उनका स्वागत करेंगे और उसके बाद वह वहां पूजा-अर्चना करेंगे. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे रविवार सुबह स्थानीय नेताओं, संतों और साधुओं के साथ राम लला के दर्शन के लिए जाएंगे. वे यहां मीडिया और फिर लोगों से बातचीत करेंगे. जनसभा के कार्यक्रम पर हालांकि अभी तक निर्णय नहीं लिया गया है. अयोध्या दौरे के लिए, ठाकरे अपने साथ शिवनेरी किले की मिट्टी भरा हुआ एक कलश भी लाए हैं जिसे वह महंत जी को सौंपेंगे. ठाकरे के दौरे की तैयारी के मद्देनजर पार्टी नेता संजय राउत, एकनाथ शिंदे, रंजन विचारे, मुंबई मेयर विश्वनाथ महादेश्वर और अन्य नेता बीते कुछ दिनों से अयोध्या में डेरा डाले हुए हैं. पिछले दो दिनों में मुंबई से दो स्पेशल ट्रेन के जरिए हजारों की तादाद में शिव सैनिक अयोध्या में पहुंचे हुए हैं.

छावनी में तब्दील हुई अयोध्या, चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा, 2 लाख ‘रामभक्तों’ के जुटने का दावा

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का इस पवित्र नगरी का यह पहला दौरा है. पार्टी की मुख्य मांग तत्काल प्रभाव से अध्यादेश लाकर अयोध्या में राममंदिर के निर्माण की है. इस मुद्दे पर पार्टी का पक्ष रखते हुए, ठाकरे ने पिछले माह दशहरा रैली के दौरान अयोध्या दौरे का ऐलान किया था. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने और तारीख घोषित करने की मांग की है. मोदी पर निशाना साधते हुए उद्धव ने कहा है कि ‘अब मन की बात बहुत हो चुकी जन की बात सुनी जानी चाहिए. भाजपा पर हमलावर शिवसेना ने मुखपत्र सामना में लिखा है कि अगर मंदिर निर्माण का मुद्दा आपके हाथ से निकल गया तो 2019 में आपकी रोजी-रोटी के अलावा कई लोगों की जुबान बंद हो जाएगी. (इनपुट एजेंसी से भी )

राम मंदिर निर्माण की बाधाओं को दूर करने का ‘आखिरी प्रयास’ है धर्मसभा: विहिप