Ujjwala Yojana 2.0: यूपी में आज उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण की शुरुआत हो गई है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक कार्यक्रम में  Ujjwala Yojana 2.0 की औपचारिक शुरुआत की. कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने लाभार्थियों के साथ बातचीत भी की. इस योजना के दूसरे चरण में योगी सरकार राज्य में 20 लाख लाभार्थियों को नए एलपीजी कनेक्शन देगी. बता दें कि इससे पहले 10 अगस्त को पीएम नरेंद्र मोदी ने देशभर में उज्ज्वला 2.0 की शुरुआत की थी.Also Read - PM Ujjwala Yojana 2.0: पीएम मोदी ने की उज्जवला योजना की शुरुआत, कांग्रेस ने कसा तंज-400 रुपये करें LPG का दाम

2016 में शुरू हुई थी उज्ज्वला योजना  Also Read - PM Ujjwala Yojana 2.0: पीएम मोदी ने लॉन्च की PM उज्ज्वला योजना 2.0, कनेक्शन पाने के लिए अब नहीं देना होगा पते का प्रमाण

साल 2016 में शुरू किए गए उज्ज्वला योजना के दौरान गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले परिवारों की 5 करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी का नया कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था. इसके बाद अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार किया गया और इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभार्थियों को शामिल किया गया था. Also Read - UP CM Yogi Adityanath: यूपी के 2 करोड़ श्रमिकों के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया बड़ा ऐलान, जानिए

क्या है उज्जवला योजना?
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत केंद्र सरकार की ओर से गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की महिला लाभार्थियों को फ्री एलपीजी कनेक्शन दिया जाता है. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से इस योजना की शुरुआत की गई है. इस योजना के तहत सरकार की कोशिश है कि खाना बनाने वाली महिलाएं जो चूल्हे के धुंए में खाना बनाती हैं. उपले, कोयले का उपयोग करती हैं उनको धुंए से दूर किया जाए.

चूल्हे के धुंए के कारण पर्यावरण पर भी असर पड़ता है साथ ही खाना बनाने वाली महिलाओं, घर के बच्चों के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ता है. इस तरह से महिलाओं के स्वास्थ्य के साथ ही पर्यावरण पर होने वाले असर को इस योजना के द्वारा या तो खत्म किया जा सकता है या बहुत हद तक इसपर काबू किया जा सकता है. केंद्र सरकार ने इस योजना को महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए शुरू किया है.