Uttar Pradesh, Chitrakoot, rape, UP Crime news, उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चित्रकूट जिले (Chitrakoot district) में 13 साल की एक नाबालिग रेप पीड़ता (rape victim) ने सरकारी अस्‍पताल में एक बच्‍ची को जन्‍म दिया है, हालांकि, जन्म के कुछ ही समय बाद नवजात बच्‍ची की मौत हो गई.Also Read - UP: गणतंत्र दिवस से पहले बड़ा रेल हादसा बचा, अयोध्‍या के पास ब्रिज के रेलवे ट्रैक से 6 हुक बोल्ट गायब

बता दें कि नाबालिग छात्रा के साथ छह माह पूर्व बलात्कार की वारदात हुई थी और पुलिस ने 29 वर्षीय आरोपी को सात फरवरी को जेल भेजा है. परिजनों को नाबालिग के गर्भवती होने की जानकारी 5 फरवरी को हुई और इसके बाद उन्होंने FIR दर्ज करवाई थी. Also Read - मुंबई में युवती से गैंगरेप, 4 नाबालिगों ने घटना को दिया अंजाम, 3 हिरासत में लिए गए

बलात्कार की पीड़िता सातवीं कक्षा की छात्रा है. आरोपी ने उसे 15 अगस्त 2020 को बहाने से अपने घर बुलाया और जान से मारने की धमकी देकर पहली बार उसके साथ बलात्कार (Rape) किया था. इसके बाद आरोपी ने नाबालिग से कई बार जबरन संबंध बनाए थे. Also Read - Marital Rape: सहमति के बिना पत्नी से यौन संबंध बनाना रेप है या नहीं, इस पर हाईकोर्ट में हो रही चर्चा

कर्वी सदर कोतवाली क्षेत्र में 13 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता ने बृहस्पतिवार को सरकारी अस्पताल में एक बच्ची को जन्म दिया. जन्म के कुछ ही समय बाद नवजात की मौत हो गई है.

कर्वी सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) वीरेंद्र त्रिपाठी ने शुक्रवार को बताया, “बृहस्पतिवार को जिला चिकित्सालय के प्रसव वार्ड में 13 साल की एक लड़की ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन जन्म के कुछ समय बाद नवजात शिशु की मौत हो गई.”

सदर कोतवाली के एसएचओ ने कहा, “सूचना मिलने पर पुलिस अस्पताल गई और पीड़िता एवं उसके परिजनों के बयान दर्ज कर नवजात के शव का पोस्टमॉर्टम करवाया.”

एसएचओ ने बताया कि इस सिलसिले में परिजनों की शिकायत पर सात फरवरी को बलात्कार, पॉक्सो अधिनियम और जान से मारने की धमकी देने की प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी सिकंदर उर्फ अमरनाथ तिवारी (29) को जेल भेज दिया गया था.

कोतवाली दर्ज प्राथमिकी के आधार पर त्रिपाठी ने बताया कि पीड़िता सातवीं कक्षा की छात्रा है, आरोपी ने उसे 15 अगस्त 2020 को बहाने से अपने घर बुलाया और जान से मारने की धमकी देकर पहली बार उसके साथ बलात्कार किया था. इसके बाद आरोपी ने नाबालिग से कई बार जबरन संबंध बनाए थे. एसएचओ ने बताया कि परिजनों को नाबालिग के गर्भवती होने की जानकारी पांच फरवरी को हुई और इसके बाद उन्होंने मुकदमा दर्ज करवाया. उन्होंने कहा, “हम नवजात शिशु के पोस्टमॉर्टम और डीएनए रिपोर्ट के आने का इंतजार कर रहे हैं, इसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी.”