लखनऊ: यूपी में आंधी-बारिश के चलते आम की फसल को सबसे ज्‍यादा नुकसान पहुंचा है. आलम यह है कि आंधी के चलते बागों में कच्‍चे आमों के ढेर लगे हैं. बताया जा रहा है कि आंधी-तूफान के चलते 40 फीसदी आम की फसल बर्बाद हो गई है. आंधी से टूटे कच्‍चे आम के लिए बाजार व मंडी में भी उचित खरीदार नहीं मिलते. ऐसे में बाग स्‍वामियों की जैसे-तैसे आम बेचने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है. उधर, क़षि और उद्यान विभाग आम की फसल को हुए नुकसान का आंकलन कर रहा है. इसके बाद पूरी रिपोर्ट शासन में भेजी जाएगी.

 

यूपी में आंधी-तूफान ने मचाई तबाही, 38 लोगों की मौत, पचास से अधिक घायल

यूपी में आंधी-तूफान के चलते बड़ा नुकसान हुआ है. प्रदेश में जहां 39 लोगों की मौत हुई है, वहीं सैकड़ों से ज्‍यादा आशियाने तबाह हो गए. साथ ही 50 से अधिक लोग घायल हो गए. इसके अलावा खेती करने वालों को भी काफी नुकसान हुआ है. आंधी-तूफान से सबसे ज्‍यादा नुकसान आम की फसल को पहुंचा है. लखनऊ जिले में हजारों हेक्टेयर भूमि पर आम की खेती की जाती है. इस बार क्षेत्र में आम की बंपर पैदावार बताई जा रही है. लेकिन मौसम की मार ने बाग स्वामियों के सपनों पर पानी फेर दिया है. शुरू सीजन से लेकर अब तक आंधी का कहर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. एक के बाद एक आंधी आम की फसल पर आफत बनकर टूट रही है. 40 फीसदी से अधिक आम पेड़ों से झड़ गया है. इससे बाग स्वामी और ठेकेदार को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा. रविवार शाम क्षेत्र में आई आंधी ने आम की फसल पर कहर बरपाया है. भारी मात्रा में आम पेड़ों से छड़ गया है. बागों में कच्चे आम के ढेर लगे हुए हैं.

UP में तूफानी कहर: बरेली में गिरी मस्जिद की मीनार, एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत