लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के शामली जिले में धर्म-परिवर्तन का अजीबोगरीब मामला सामने आया है. डीएम कार्यालय में एक व्‍यक्ति ने हलफनामा प्रस्‍तुत कर कहा है कि उसे सपने में कई दिनों से भगवान राम दिखाई दे रहे हैं, इसलिए उसने धर्म-परिवर्तन कर अपना नाम शहजाद राणा से संजू राणा रख लिया है. साथ ही छह साल के बेटे का भी धर्म-परिवर्तन करा दिया है. इसके लिए उसने शामली के डीएम से भी अनुमति मांगी. डीएम ने कहा कि यह उनका निजी मामला है. संविधान के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.

शामली डीएम कार्यालय में दिए हलफनामे में शहजाद राणा ने कहा कि सदियों पूर्व उसके पूर्वज हिंदू धर्म को त्यागकर मुस्लिम धर्म में परिवर्तित हो गए थे, लेकिन उसकी आस्था हिंदू धर्म में है. इसलिए प्रार्थी अपने बेटे सुमेर राणा के साथ बिना किसी दबाव और जोर-जबदस्ती के इस्लाम धर्म को त्याग कर फिर से हिंदू धर्म में वापसी करना चाहता है. इसलिए उसने अपना नाम शहजाद राणा से बदलकर संजू राणा और बेटे का नाम सुमेर राणा से बदलकर शेखर राणा रख लिया है. जिलाधिकारी की ओर से उसे इसकी अनुमति दी जाए.

UP के बागपत में मुस्लिम परिवार ने अपनाया हिन्‍दू धर्म, जानें घटना में क्‍यों आ रहा पुलिस का नाम?

मंदिर में पहुंचकर की पूजा-अर्चना
डीएम कार्यालय में हलफनामा देने के बाद उसने कलक्ट्रेट में ही स्थित मंदिर में पहुंचकर पूजा-अर्चना की. संजू राणा (परिवर्तित नाम) ने बताया कि उसे कई दिनों से भगवान श्रीराम रात को सपने में दिख रहे थे. उन्‍होंने उसे हिंदू धर्म लौटने के लिए कहा. उसको ऐसा करने के लिए किसी ने मजबूर नहीं किया है. वह हिंदू धर्म को अपनाने के बाद खुश है. उसने बताया कि वह एसपी से भी मिला था. उसने कोतवाली में शपथ देकर धर्म परिवर्तन के बारे में बताया है.

शामली के युवक ने प्रेमिका से प्‍यार में बदला धर्म, फिर हुई ‘घर वापसी’

धर्म परिवर्तन का कुछ लोग कर रहे विरोध
संजू राणा ने बताया कि उसके निर्णय का अभी कुछ लोग विरोध कर रहे हैं, लेकिन पुलिस ने सुरक्षा का भरोसा दिलाया है. साथ ही उसने यह भी बताया कि उसकी पत्नी एवं उसके एक और बेटे ने धर्म परिवर्तन नहीं किया है. उन्होंने पत्नी और बेटे के भी शीघ्र धर्म परिवर्तन की संभावना जताई है. संजू राणा ने बताया कि कुछ लोग उसके घर आए थे उन्होंने धर्म परिवर्तन पर ऐहतराज जताया, लेकिन उसने उन्हें वापस भेज दिया.