लखनऊ: कैराना और नूरपुर लोकसभा सीटों पर होने वाले उप चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने सपा और आरएलडी के गठबंधन के प्रत्याशी का समर्थन किया है. आम आदमी पार्टी यहां सपा प्रत्याशी को जिताने की अपील करेगी. इसे लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आम आदमी पार्टी का आभार जताया है. अखिलेश ने ट्वीट कर कहा कि आम आदमी द्वारा समर्थन दिए जाने पर स्वागत एवं बहुत-बहुत धन्यवाद.

कैराना, नूरपुर उपचुनाव में खिलेगा कमल, सपा-बसपा का जातिगत गठजोड़ नहीं होगा कामयाब : भाजपा

सपा ने आरएलडी से किया है गठबंधन
बता दें कि सपा ने कैराना में राष्ट्रीय लोकदल से गठबंधन किया है. कैराना में आरएलडी का चुनाव चिंह है, लेकिन प्रत्याशी सपा की हैं. यहां तबस्सुम हसन को चुनाव मैदान में उतारा है. वहीं, बिजनौर की नूरपुर विधानसभा सीट से सपा ने नईम उल हसन को मैदान में उतारा है. सपा को यहां भी आरएलडी और बसपा ने समर्थन दिया है. बसपा अपना प्रत्याशी मैदान में नहीं उतार रही है. वहीँ, कैराना से जहां हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह भाजपा उम्मीदवार हैं, जबकि नूरपुर में दिवंगत विधायक लोकेन्द्र सिंह की पत्नी अवनी सिंह को भाजपा ने मैदान में उतारा है.

कैराना लोकसभा सीट से मृगांका सिंह होंगी बीजेपी की प्रत्याशी, नूरपुर से अवनि सिंह को टिकट

28 मई को उपचुनाव, दलित-मुस्लिम तय करते हैं हार-जीत
कैराना लोकसभा सीट बीजेपी सांसद हुकुम सिंह के निधन से जबकि नूरपुर विधानसभा सीट लोकेंद्र सिंह के निधन के कारण खाली हुई है. इन दोनों सीटों पर 28 मई को उप चुनाव होना है. कैराना लोकसभा सीट पर दलित और मुस्लिम जीत-हार तय करते हैं. 16 लाख वोटर्स वाली इस सीट पर दलित और मुस्लिम आधे से भी ज्यादा हैं. हालांकि बीएसपी ने कहा है कि कैराना उपचुनाव में बीएसपी सपा का समर्थन नहीं करेगी लेकिन अखिलेश यादव को उम्मीद है कि मायावती अपना फैसला बदलेंगी.