बागपत: जिले के टिकरी गांव में बंदरों पर एक बुजुर्ग की हत्या का आरोप उनके परिजनों ने लगाया है. उन्होंने इस बाबत पुलिस को बाकायदा लिखित शिकायत भी दी है.  बताया जा रहा है कि बंदरों के कथित हमले में एक बुजुर्ग की मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने घटना के संबंध में पुलिस में तहरीर दी है. हालांकि पुलिस ने घटना को हादसा बताया है. Also Read - कमाल है: उप्र में अनुमति के बिना दाढ़ी रखने पर मुस्लिम पुलिसकर्मी निलंबित

Also Read - 11 साल पहले जिस महिला से हुई शादी, उसे छोड़ 3 साल में की तीन और शादियां, अब जो हुआ उससे पुलिस भी चौंकी

महि‍ला वकील के साथ होटल में गए दारोगा को बीजेपी पार्षद ने जमकर पीटा, देखें ये VIDEO Also Read - यूपी में 9 जिलों के पुलिस कप्तानों समेत 14 IPS अधिकारियों का हुआ तबादला, जानें किसकी कहां हुई नियुक्ति

बंदरों पर ईंट फेंकने का आरोप

रमाला पुलिस क्षेत्राधिकारी राजीव प्रताप सिंह ने शनिवार को बताया कि पुलिस को इस दुर्घटना के बारे में सूचित किया गया था और हमने इसे केस डायरी में पंजीकृत किया, जिसके बाद पोस्टमॉर्टम किया गया. उन्होंने बताया कि जांच में पता चला है कि टिकरी गांव निवासी धर्मपाल (70) गत 17 अक्टूबर को ईंट के एक खंभे के पास में लेटे हुए थे. इस दौरान वहां कुछ बंदर ईंट के खंभे पर कूदे जिससे वह भरभरा कर नीचे गिर गया. घटना में धर्मपाल घायल हो गया, जिसकी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई.

विजय दशमी उत्सव: यूपी में छिटपुट झड़पों व हिंसा के दौरान दो लोगों की मौत, दर्जन भर घायल

उधर, मृतक के भाई कृष्णपाल सिंह द्वारा दी गई तहरीर के अनुसार धर्मपाल सिंह हवन के लिए लकड़ी इकट्ठा करने गए थे. वहीं बंदरों ने उन पर ईंट फेंकी जिससे सिर और छाती की चोट के कारण धर्मपाल की अस्पताल में मौत हो गई. कृष्णपाल सिंह ने कहा कि हमने बंदरों के खिलाफ एक लिखित शिकायत दी है लेकिन पुलिस मामले को हादसा करार देते हुए कुछ भी कार्रवाई नहीं कर रही है. अब हम इस मामले में उच्च अफसरों से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग करेंगे. ( इनपुट एजेंसी )