बलिया: उत्‍तर प्रदेश के बलिया जिले के रसड़ा कस्बे में पुलिस द्वारा एक युवक की पिटाई की घटना को लेकर गुरुवार को पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प हुई. इस दौरान एक अस्थाई पुलिस चौकी में तोड़फोड़ की गई और करीब आधा दर्जन वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. Also Read - यूपी: शादी के बाद पत्‍नी ने धर्म परिवर्तन से किया इनकार, तो पति ने गला काटकर कर दी हत्‍या

बलिया के रसड़ा में एक आदमी पन्नालाल की शिकायत मिलने पर उसे चौकी लाया गया था. कथित तौर पर चौकी में उसके साथ मारपीट किए जाने के संदर्भ में लोगों ने सड़क जाम कर पथराव किया. ग्रामीण और पुलिस की झड़प में एडिशनल एपी समेत 6 पुलिसकर्मी और 6 अन्‍य लोग घायल हो गए हैं. Also Read - UP Police Recruitment 2020: पुलिस विभाग में 16 हजार से अधिक पदों पर होंगी भर्तियां, सीधी भर्तियों का भी है मौका, जानें पूरी डिटेल

रसड़ा में लोगों द्वारा किए गए पथराव पर बलिया के एसपी देवेंद्र नाथ ने कहा, लापरवाही के संदर्भ में चौकी इंचार्ज और हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है. जिन लोगों ने पथराव किया है उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है. घटना में एडिशनल SP को चोट लगी है और अन्य लोग भी घायल हुए हैं. Also Read - पिता करते थे मजदूरी, बेटी अचानक बन गई करोड़पति, कहा-मुझसे मत पूछो..जानिए कहानी

अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने बताया कि रसड़ा कस्बे में लोगों ने पुलिस पर पन्ना लाल नामक युवक की पिटाई का आरोप लगाते हुए लखनऊ-बलिया राजमार्ग पर स्थित कोटवारी मोड़ पर रास्ता जाम कर दिया.

एडिशनल एपी ने बताया कि इसकी सूचना मिलने पर वह और पुलिस उपाधीक्षक के पी सिंह मौके पर पहुंचे. बातचीत में जाम हटाने को लेकर सहमति बनी और दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया. इसके बाद पुलिस ने जैसे ही जाम के लिए सड़क पर रखे गए अवरोधकों को हटाना शुरू किया ग्रामीण फिर उग्र हो गए.

एडिशनल एपी यादव ने बताया कि भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया तो ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया. उग्र भीड़ ने अस्थायी पुलिस चौकी में तोड़फोड़ की तथा छह मोटरसाइकिल को क्षतिग्रस्त कर दिया. उन्होंने बताया कि इस घटना में वह खुद भी घायल हो गए. इसके अलावा पांच अन्य पुलिसकर्मियों और दो पत्रकारों समेत कुल 12 लोग जख्मी हुए हैं.

एएसपी यादव ने बताया कि मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. जिलाधिकारी एच पी शाही और पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ मौके पर पहुंच गए हैं.

पुलिस अधीक्षक नाथ ने बताया कि रसड़ा कस्बे की राम दुलारी देवी ने अपने पति के भतीजे पन्ना लाल के विरुद्ध पुलिस से शिकायत की थी कि वह उनके घर में जबर्दस्ती रह रहा है. इस सूचना के बाद पुलिस पन्ना लाल को कल पुलिस चौकी पर ले आयी. पन्ना लाल का आरोप है कि पुलिस चौकी पर पुलिसकर्मियों ने उसके साथ मारपीट की तथा दुर्व्यवहार किया. उन्होंने बताया कि पुलिस पर पथराव करने वाले अराजक तत्वों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी. साथ ही उन्होंने कहा कि मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी.