लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सरकारी बंगला खाली करने के बाद हलके फुल्के मूड में दिखे. आज सुबह वह गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे. यहां उन्होंने साईकिल चलाई. इसके बाद बच्चों के साथ क्रिकेट खेले. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह अपने कार्यकाल में कराए गए विकास कार्यों को देख रहे हैं. अब वो अपने कार्यकाल के कराए गए कार्यों की प्रगति को देखेंगे. Also Read - कमाल है: उप्र में अनुमति के बिना दाढ़ी रखने पर मुस्लिम पुलिसकर्मी निलंबित

बता दें कि शनिवार को ही उन्होंने सरकारी बँगला छोड़ा है. वह परिवार के साथ वीवीआईपी गेस्ट हाउस में रह रहे हैं. गेस्ट हाउस में वह आज और कल तक रहेंगे, इसके बाद सुल्तानपुर रोड पर अपने नए आशियाने में शिफ्ट हो जाएंगे. बंगला छोड़ने में देरी करने के कारण सोशल मीडिया पर काफी आलोचना की जा रही थी. बंगला छोड़ने के बाद अखिलेश यादव आज सुबह ही गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे. वह कुछ देर तक यहां टहले. इसके बाद पास ही बने स्टेडियम में उन्होंने साइकिल चलाई. बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे. उन्होंने बच्चों से बैट मांगा और उनके साथ क्रिकेट खेली. कुछ देर खेलने के बाद उन्होंने बच्चों के साथ फोटो भी खिंचवाई. Also Read - पहल: उप्र के इस जिले ने पेश की मिसाल, घर की नेमप्लेट पर मां, पत्नी या बेटी का नाम

ट्विटर पर लिखा- चलते रहो
अखिलेश ने बंगला छोड़ने के लिए दो साल का समय मांगा था, लेकिन उन्हें समय नहीं दिया गया. शनिवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए 15 दिन पूरे होने पर अखिलेश ने परिवार के साथ बंगला छोड़ दिया. इसके बाद उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर दार्शनिक अंदाज में कुछ लाइन्स पोस्ट की थी. अखिलेश ने लिखा था कि कभी मैं धौलपुर, कभी मैसूर और न जाने कहां-कहां न गया. जब भी एक जगह से दूसरी जगह गये कुछ नया पाया, कुछ नया सीखा. अब एक बार और सही. हमारी देश की संस्कृति भी तो यही कहती है. चलते रहो-चलते रहो.