UP Assembly Election 2022: चल रही तैयारी, तो क्या अयोध्या से चुनाव लड़ेंगे सीएम योगी आदित्यनाथ?

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं, कभी भी यहां चुनाव की रणभेरी बज सकती है. अयोध्या में चल रही चुनाव की तैयारियों को देखते हुए लग रहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ इसी सीट से चुनाव लड़ेंगे.

Updated: January 8, 2022 12:30 PM IST

By Kajal Kumari

Chief Minister Yogi Adityanath will announce these gifts at a conference of 1.25 lakh Panchayat representatives of the state at the Defense Expo Ground.
(Chief Minister Yogi Adityanath/File Photo)

UP Assembly Election 2022: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर है और चुनाव की रणभेरी कभी भी बज सकती है. खबर मिल रही है कि इस बार विधानसभा चुनाव 6 से 8 चरणों में हो सकता है. हालांकि चुनाव आयोग अभी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही चुनाव की तारीखों का ऐलान कर सकता है. वहीं, सबसे बड़ी बात ये है कि यूपी विधानसभा के चुनाव में इसबार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी  चुनाव लड़ने की मंशा जताई है. तो उनके लिए प्रदेश में सबसे प्रभावशाली सीट कौन सी होगी, जिसपर योगी चुनाव लड़ेंगे? इस मुद्दे पर लगातार छह माह से संगठन में मंथन के बाद अब अयोध्या सीट पर आकर इसकी तलाश पूरी होती दिख रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक योगी के अयोध्या सीट से चुनाव लड़ने को लेकर अब यहां मुख्यमंत्री और संगठन दोनों की टीमें सक्रिय भी हो गई हैं.

Also Read:

अयोध्या में चल रही है योगी के लिए तैयारी
बता दें कि चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं के मन की थाह लेने के लिए सीएम के सलाहकार संजीव सिंह बैठक कर रहे हैं, तो अयोध्या विधायक के बाद जिलाध्यक्ष व महानगर अध्यक्ष भी लखनऊ जाकर सीएम को न्योता दे चुके हैं. चुनाव के लिए अयोध्या में कार्यालय की तलाश और वोटर लिस्ट को अपडेट करने में खास लोगों की भूमिका ये साफ संकेत दे रही है कि योगी गोरखपुर या कहीं अन्य सीट से ज्यादा श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या से चुनाव लड़ने का मन बना चुके हैं.

पहले से गोरखपुर सीट को लेकर हो रही थी चर्चा
सीएम योगी के गोरखपुर सीट से चुनाव लड़ने की भी चर्चा तेज रही, लेकिन समर्थक कहते हैं कि इस सीट पर डॉ. अग्रवाल को हटाकर योगी आदित्यनाथ खुद प्रत्याशी नहीं बनना चाहते हैं. वहीं, इसके बाद गोरखपुर के लोग पिपराइच सीट को इसका विकल्प मानते हैं, लेकिन अब संगठन में सीएम के लिए अयोध्या की सीट ज्यादा प्रभावकारी मानी जा रही है. भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव सिंह कहते हैं कि वे और महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्र लखनऊ जाकर मुख्यमंत्री से मिलकर आए हैं.

उन्होंने कहा है कि एक सप्ताह में पूरी स्थिति साफ हो जाएगी. वहीं, अयोध्या सीट से भाजपा विधायक वेदप्रकाश गुप्त कहते हैं कि वे तो छह माह पहले ही उनसे मिलकर बाकायदा लिखित आग्रह कर चुके हैं कि 500 साल के अभिशाप से मुक्त हुई अयोध्या को योगी जैसा महानायक ही चाहिए.

दूसरी बात ये भी बता दें कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या आंदोलन के दौरान भी अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ के साथ यहां आते रहे थे और उनके ओजस्वी भाषण से अवध और पूर्वांचल के युवा खूब जुड़ते रहे हैं. बता दें कि यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद 32 से अधिक बार योगी अयोध्या आ चुके हैं. योगी का अयोध्या से काफी पुराना जुड़ाव है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 8, 2022 8:53 AM IST

Updated Date: January 8, 2022 12:30 PM IST