UP Assembly Election 2022: अब कांग्रेस के नरेश सैनी और सपा के हरिओम यादव ने थामा BJP का दामन, समाजवादी पार्टी ने कही ये बात

UP Assembly Election 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के योगी मंत्रिमंडल (Yogi Cabinet) से इस्तीफा देने और भाजपा छोड़ने के एलान के एक दिन बाद बुधवार को पलटवार करते हुए भाजपा ने सपा और कांग्रेस के मौजूदा विधायक को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया.

Updated: January 12, 2022 3:24 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Nitesh Srivastava

Naresh Saini
सहारनपुर जनपद के बेहट से कांग्रेस विधायक नरेश सैनी, सिरसागंज से समाजवादी पार्टी के विधायक हरिओम यादव और सपा के पूर्व विधायक धर्मपाल यादव भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए. Photo- ANI

UP Assembly Election 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के योगी मंत्रिमंडल (Yogi Cabinet) से इस्तीफा देने और भाजपा छोड़ने के एलान के एक दिन बाद बुधवार को पलटवार करते हुए भाजपा ने सपा और कांग्रेस के मौजूदा विधायक को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया. बुधवार को भाजपा राष्ट्रीय मुख्यालय में समाजवादी पार्टी के मौजूदा विधायक और मुलायम सिंह यादव के समधी हरिओम यादव (Hariom Yadav) और कांग्रेस के मौजूदा विधायक नरेश सैनी (Naresh Saini) भाजपा में शामिल हो गए. इन दोनों नेताओं के साथ ही सपा के एक अन्य नेता पूर्व विधायक डॉ धर्मपाल सिंह (Dharampal Singh) भी भाजपा में शामिल हो गए.

Also Read:

वहीं समाजवादी पार्टी का दावा है कि जिन हरिओम यादव विधायक सिरसागंज को भाजपा शामिल कराकर भ्रामक प्रचार कर रही है कि उसने एक सपा विधायक को तोड़ लिया है और सपा को जवाब दिया है ये गलत प्रचार है. सपा के अनुसार हरिओम यादव 15/02/2021 को ही पार्टी विरोधी गतिविधियों और भाजपा संग सांठगांठ के कारण पहले ही 6 साल के लिए निष्कासित किया जा चुका है.

उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh), उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya), उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) और भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने इन तीनों नेताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाई. सपा और कांग्रेस के इन तीनों नेताओं का भाजपा में स्वागत करते हुए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दावा किया कि भाजपा की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है.

उत्तर प्रदेश में चुनावी घमासान अपने चरम पर पहुंच गया है. सभी राजनीतिक दल अगले कुछ दिनों में पहले और दूसरे चरण में मतदान वाले सीटों पर उम्मीदवारों की सूची को फाइनल करने में लगे हैं. यह माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में राजनीतिक दलों की पहली सूची आ सकती है और यही वजह है कि राजनीतिक दलों के बीच नेताओं का आवागमन शुरू हो गया है. मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य को तोड़ कर सपा ने भाजपा को एक बड़ा झटका दे दिया था. बुधवार को सपा के 2 नेताओं को पार्टी में शामिल करवा कर भाजपा ने पलटवार करने की कोशिश की है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें उत्तर प्रदेश समाचार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 12, 2022 3:23 PM IST

Updated Date: January 12, 2022 3:24 PM IST