UP Assembly Election 2022: कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने साफ किया है कि उत्तर प्रदेश चुनाव में कांग्रेस का चेहरा प्रियंका गांधी ही होंगी. यूपी कांग्रेस की कप्तान प्रियंका गांधी ही हैं. सलमान खुर्शीद ने कहा है कि पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी यह तय करेंगी कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav) में वह मतदाताओं के बीच खुद को कैसे पेश करेंगी, लेकिन यह जरूर है कि वह एक ‘बेहतरीन चेहरा’ हैं और राज्य में पार्टी की ‘कप्तान’ हैं. उन्होंने यह उम्मीद भी जताई कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ही भाजपा के खिलाफ मुख्य प्रतिद्वंद्वी की भूमिका में होगी.Also Read - Uddhav Thakrey Resignation Speech: 'नहीं चाहता था शिवसैनिकों का खून बहे इसलिए..', इस्तीफे का ऐलान कर जानें क्या-क्या बोले उद्धव ठाकरे

सलमान खुर्शीद ने दिए साक्षात्कार में कहा कि कांग्रेस गठबंधनों के लिए इंतजार नहीं करती रहेगी, बल्कि पूरी ताकत के साथ वह चुनाव लड़ने को लेकर प्रतिबद्ध है. यह पूछे जाने पर कि क्या मुख्यमंत्री पद के चेहरे के लिए प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ही सर्वश्रेष्ठ विकल्प हैं तो पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘जब तब वह हमें कोई संकेत नहीं देतीं, तब तक मैं इसका जवाब नहीं दूंगा. लेकिन वह एक अद्भुत, बेहतरीन चेहरा हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप एक तरफ योगी आदित्यनाथ की तस्वीर रखिए और दूसरी तरफ प्रियंका गांधी की तस्वीर रखिए. आपको कोई सवाल पूछने की जरूरत नहीं होगी.’’ Also Read - Udaipur Tailor Kanhaiya Murder: NIA करेगी टेलर कन्हैया तेली के मर्डर की जांच, हत्या के बाद प्रदेशभर में तनाव

सलमान खुर्शीद ने इस बात पर जोर दिया कि यह फैसला प्रियंका गांधी को खुद करना है कि मतदाताओं के बीच किस तरह से जाना है . उन्होंने कहा, ‘‘मैं आशा करता हूं कि वह फैसला करेंगी और हमें जानकारी देंगी. जहां तक हमारा सवाल है तो वह हमारी कप्तान हैं और हमारा नेतृत्व कर रही हैं.’’ Also Read - Curfew in Udaipur: उदयपुर में टेलर कन्हैया की हत्या के बाद कई इलाकों में कर्फ्यू, जानिए क्या रहेगा बंद और किन्हें मिलेगी छूट ?

गठबंधन की संभावना को लेकर पूछे जाने पर खुर्शीद ने कहा कि उनकी जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस की किसी दल के साथ बातचीत नहीं चल रही है. उनके मुताबिक, अगर पार्टी नेतृत्व कोई फैसला करता है तो बात अलग है. उल्लेखनीय है पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ा था. उस चुनाव में कांग्रेस सिर्फ सात सीटें जीत सकी और सपा को 47 सीटें मिली थीं. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हाल ही में एक साक्षात्कार में कहा था कि उनकी पार्टी आगामी चुनाव में कांग्रेस और बसपा जैसे बड़े दलों के साथ गठबंधन नहीं करेगी.