UP Polls 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य BJP छोड़ सपा में शामिल, तीन और विधायकों का इस्तीफा; हो सकते हैं 'साइकिल पर सवार'

Uttar Pradesh Assembly Election 2022: तिलहर से BJP विधायक रोशन लाल वर्मा भी सपा में शामिल हो रहे हैं. इनके अलावा बांदा की तिंदवारी सीट से बीजेपी विधायक ब्रजेश प्रजापति और बिल्हौर से BJP MLA भगवती सागर ने भी इस्तीफा दे दिया है.

Published: January 11, 2022 4:00 PM IST

By Parinay Kumar

UP Polls 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य BJP छोड़ सपा में शामिल, तीन और विधायकों का इस्तीफा; हो सकते हैं 'साइकिल पर सवार'

UP Assembly Election 2022: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Polls 2022) से ठीक पहले सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (BJP) को झटका लगा है. पार्टी के दिग्गज नेता और यूपी के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने BJP का दामन छोड़कर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में शामिल हो गए. रिपोर्ट्स की मानें तो स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद कई और विधायक बीजेपी छोड़कर सपा में शामिल होंगे. तिलहर से BJP विधायक रोशन लाल वर्मा भी स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे हैं. इनके अलावा बांदा की तिंदवारी सीट से बीजेपी विधायक ब्रजेश प्रजापति और बिल्हौर से BJP MLA भगवती सागर ने भी इस्तीफा दे दिया है.

Also Read:

स्वामी प्रसाद मौर्य ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भेजे अपने इस्तीफे में मौजूदा सरकार में दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों और छोटे व्यापारियों की उपेक्षा होने का आरोप लगाया है.

स्वामी प्रसाद से मुलाकात के बाद समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने मौर्य का स्वागत करते हुए ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा है कि, “सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता स्वामी प्रसाद मौर्य एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन! सामाजिक न्याय का इंक़लाब होगा ~ बाइस में बदलाव होगा.’

अखिलेश यादव ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, इस बार सभी शोषितों, वंचितों, उत्पीड़ितों, उपेक्षितों का ‘मेल’ होगा और भाजपा की बांटने व अपमान करनेवाली राजनीति के ख़िलाफ़ सपा की सबको सम्मान देनेवाली राजनीति का इंक़लाब होगा. बाइस में सबके मेल मिलाप से सकारात्मक राजनीति का ‘मेला होबे’! भाजपा की ऐतिहासिक हार होगी!

मालूम हो कि पिछले विधानसभा चुनाव से पहले स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने बहुजन समाज पार्टी (BSP) का विधायक दल का नेता रहते हुए अचानक त्‍यागपत्र देकर BJP का दामन थाम लिया था. मौर्य को भाजपा ने पिछड़ों के प्रमुख नेता के रूप में आगे किया था और मंगलवार को उनके इस कदम से भाजपा के खेमे में खलबली मच गई.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 11, 2022 4:00 PM IST